ऑटोफैक्ट्स

जान लीजिए क्या ट्रैफिक पुलिस निकाल सकती है आपकी कार-बाइक की चाबी?

आपने कई बार देखा होगा कि कई पुलिस वाले आपकी बाइक या कार की चाबी निकाल लेते हैं और ऐसा वो इसलिए करते होंगे कि कहीं आप भाग न जाएं लेकिन...

सड़क पर किसी भी प्रकार का वाहन चलाते वक्त यातायात नियमों का पालन करना बोहोत जरूरी है। ऐसा न करने पर ट्रैफिक पुलिस आपसे जुर्माना वसूल सकती है। और इसके अलावा नियम तोड़ना आपकी जान के लिए भी खतरा बन सकता है। हालांकि आपने कई बार देखा होगा कि कई पुलिस वाले आपकी बाइक या कार की चाबी निकाल लेते हैं।

शायद ऐसा वो इसलिए करते होंगे कि कहीं आप भाग न जाएं। लेकिन क्या गाडी की चाबी निकालने का उन्हें अधिकार है? आइए बताते है इस सवाल का जवाब, भारतीय मोटर वाहन अधिनियम 1932 के मुताबिक, केवल एक सहायक उप-निरीक्षक यानी कि (ASI) के रैंक का यातायात पुलिस कर्मी ही यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों पर जुर्माना लगा सकता है।

और इसके आलावा एएसआई, सब-इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर के पास आपको मौके पर जुर्माना लगाने का अधिकार है, लेकिन ट्रैफिक कांस्टेबल केवल उनकी सहायता के लिए मौजूद हैं। लेकिन उनके पास आपके किसी भी वाहन से चाबी निकालने का अधिकार नहीं है।

जब ट्रैफिक पुलिस आपको पकड़ती है तो इन सब बातों का रखें ध्यान

1. यातायात पुलिस कर्मियों के पास नियमों का उल्लंघन करने वालो पर जुर्माना लगाने के लिए चालान बुक या फिर ई-चालान मशीन होनी चाहिए। अगर इनमें से कोई भी समान उनके पास मौजूद नहीं है तो वह आप पर जुर्माना नहीं लगा सकते।

2. आपको बता दे यातायात पुलिस को वर्दी में होना चाहिए, जिसपर उनका नाम लिखा हो। अगर पुलिस कर्मी सामन्य कपड़ों में है, तो आप उनसे उनका पहचान प्रमाण देने के लिए कह सकते हैं।

3. एक ट्रैफिक पुलिस हेड कांस्टेबल सिर्फ 100 रुपये का अधिकतम जुर्माना लगा सकता है। सिर्फ एक एएसआई या फिर एक एसआई 100 रुपये से ज्यादा का जुर्माना लगा सकता है।

4. अगर कोई यातायात पुलिस कर्मी आपकी कार या बाइक से चाबी निकालता है, तो आपको तुरंत वीडियो रिकॉर्ड करना चाहिए और निकटतम पुलिस स्टेशन में वरिष्ठ अधिकारी को दिखाकर शिकायत करने का आपको पूरा अधिकार है।

5. ड्राइविंग करते वक्त आपके पास ड्राइविंग लाइसेंस और साथ में प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र होना चाहिए। आपकी कार के रजिस्ट्रेशन और इंश्योरेंस पेपर की कॉपी भी वहां आपके पास मौजूद होनी चाहिए। इसके अलावा अगर चेकिंग के वक्त ट्रैफिक पुलिस आपके साथ किसी भी तरह दुर्व्यवहार करता है तो आप किसी वरिष्ठ अधिकारी से इस बारे में शिकायत कर सकते हैं।

6. अगर आपके पास मौके पर जुर्माना राशि नहीं है, तो आप इसे बाद में भी जमा कर सकते हैं। ऐसे में फिर कोर्ट चालान जारी किया जाता है जिसे कोर्ट में चुकाना पड़ता है। लेकिन इस दौरान ट्रैफिक पुलिस आपका ड्राइविंग लाइसेंस अपने कब्जे में ले लेती है।

Aadhya technology

यह भी पढ़े: ढाई साल की मासूम से दुष्कर्म, बच्ची गंभीर हालत में मेरठ रेफर

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button