बिज़नेस

राशन कार्ड धारकों की बल्‍ले-बल्‍ले, 80 करोड़ लोगों के ल‍िए मोदी सरकार का बड़ा फैसला!

यदि आपके पास भी राशन कार्ड है और केंद्र सरकार की और से चलाई जा रही प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना के चलते लाभार्थी हैं तो यह आपके

यदि आपके पास भी राशन कार्ड है और केंद्र सरकार की और से चलाई जा रही प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना के चलते लाभार्थी हैं तो यह आपके लिए ही है. मोदी कैब‍िनेट की 28 स‍ितंबर कि बैठक में गरीबों के ल‍िए चलाई गयी अन्‍न योजना को तीन महीने तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया था. इस फैसले के मुताबीक योजना को 31 द‍िसंबर 2022 तक कर दी थी. और इसी के साथ फ‍िर से योजना से जुड़ी बड़ी खबर आ रही है.

मार्च तक बढ़ेगी फ्री राशन योजना:

सूत्रों का कहना है क‍ि सरकार की और से फ्री राशन योजना को अगले तीन महीने के ल‍िए बढ़ाने का फैसला लिया है. इस पर कैब‍िनेट की अगली कैब‍िनेट में घोषणा हो सकती है. फ‍िलहाल 10 से 15 द‍िसंबर तक मौजूदा महीने के राशन का पूरा व‍ितरण होगा. इस महीने का राशन कोटेदारों के यहां जाना शुरू हो गया है. पीएम गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को अप्रैल 2020 में लागू क‍िया गया था.

जानें कितने करोड़ लोगो को मिलेगा अनाज:

पीएम गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना में नेशनल फूड स‍िक्‍योर‍िटी एक्‍ट (NFSA) के चलते देश के 80 करोड़ लाभार्थ‍ियों को 5 क‍िलो अनाज निशुल्क द‍िया जाता है. सरकार की और से मुफ्त राशन स्‍कीम को लॉकडाउन के चलते शुरू क‍िया गया था. अप्रैल 2020 को लागू हुई इस योजना मार्च 2022 में छह महीने से बढ़ाकर स‍ितंबर तक कर द‍िया गया था. लेकिन बाद में इसे तीन महीने तक और बढ़ा कर द‍िसंबर 2022 तक कर द‍िया गया. एक बार फिर तीन महीने के ल‍िए बढ़ाने पर व‍िचार क‍िया किया जा रहा है.

2024 तक जारी रहेगी अन्‍न योजना!

सूत्रों का यह भी कहना है क‍ि सरकार इस योजना को 2024 तक चालू रखेगी. सरकार की और से फ‍िर इस योजना को बढ़ाने पर सोच-व‍िचार क‍िया जाता है जिससे 80 करोड़ लोगों को लाभ होगा. योजना पर सरकार की और से अब तक 3.50 लाख करोड़ से भी अधिक खर्च क‍िया जा चुका है. आपको बता दें पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना दुनिया की सबसे बड़ी अन्‍न योजना है.

Accherishtey

यह भी पढ़ें: भारत में इन 4 धांसू कारों के आने वाले हैं सीएनजी मॉडल, इस साल होंगी लॉन्च

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button