बिज़नेस

लोगों की हो गई बल्ले-बल्ले, Vande Bharat Train को लेकर आया बड़ा अपडेट

पुरे देश में वंदे भारत ट्रेनों काफी चर्चा है. इसके आने से लोगों का सफर बेहद ही आरामदायक हो गया है. दूसरी तरफ अब वंदे भारत ट्रेन को लेकर

पुरे देश में वंदे भारत ट्रेनों काफी चर्चा है. इसके आने से लोगों का सफर बेहद ही आरामदायक हो गया है. दूसरी तरफ अब वंदे भारत ट्रेन को लेकर एक ख़ास जानकारी सामने आ रही है. जिसे जानकर लोग ख़ुशी से झूम उठे. दरअसल, टीटागढ़ रेल सिस्टम्स लिमिटेड और भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड दोनों को भारतीय रेलवे से 80 वंदे भारत स्लीपर ट्रेन के निर्माण का ठेका मिला है.

रेल सिस्टम्स लिमिटेड

इन कंपनियों ने एक बयान में कहा, ‘‘टीटागढ़ रेल सिस्टम्स लिमिटेड तथा बीएचईएल के गठजोड़ ने 2029 तक 80 वंदे भारत स्लीपर ट्रेन बनाने के लिए अनुबंध किया है. अनुबंध का मूल्य लगभग 24,000 करोड़ रुपये है.’’ ऐसा पहली बार है की जब भारतीय रेलवे ने 35 वर्ष के लिए पुरे ट्रेन सेट के डिजाइन, निर्माण का ठेका एक भारतीय गठजोड़ को सौंपा है. टीआरएसएल-बीएचईएल एकमात्र गठजोड़ था।

वंदे भारत ट्रेन

टीआरएसएल के वाइस चेयरमैन और प्रबंध निदेशक उमेश चौधरी ने बताया, ‘‘हम प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर दृश्य में कुछ योगदान करना चाहते हैं. वंदे भारत ट्रेन ने हमारे सफर करने के तरीके में काफी आरामदायक करवादी और हमें सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ का भाग बनने पर गर्व महसूस करते है.’’ उन्होंने कहा कि इस ऑर्डर को लगभग छह वर्ष में लग जाएगे. इसका पहला प्रोटोटाइप दो वर्ष की समयसीमा में दिया जाएगा.

वंदे भारत एक्सप्रेस

वंदे भारत एक्सप्रेस भारतीय रेलवे द्वारा संचालित और प्रबंधित प्रतिष्ठित और आधुनिक ट्रेनों में से एक है. और इसको सेमी-हाई स्पीड ट्रेन माना गया है, जो देश की सबसे तेज ट्रेन है, पहली गतिमान एक्सप्रेस है. वंदे भारत को ट्रेन 18 के रूप में भी जाना जाता है और इसका उद्घाटन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 में किया था.

Accherishtey
यह भी पढ़ें: दिल्ली के इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के पास दो गाड़ियों में टक्कर, 2 की मौत, 2 घायल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button