देशबिज़नेस

ट्रैन में हुई इलेक्ट्रॉनिक मशीनों की शुरआत, नहीं चलेगी TTE की मनमर्जी

ट्रैन में हो रही असुविधा के लिए हैंड हेल्ड मशीन लायी जा रही है, जिससे की यात्रियों को सीट के लिए TTE से गिड़गिड़ाना नहीं पड़ेगा

देश में नई योजनाए आये दिन बनाई जा रही है जिससे लोगों को सुविधाएं उपलब्ध हो सके। ऐसी ही योजना ट्रैन में चेकिंग स्टाफको देख कर बनाई जा रही है जहां उनको अब Hand Held MachineTicket दी जाएगी।

अक्सर आपने देखा होगा कि बहुत से यात्रियों का टिकट वेटिंग पर अटक जाता है। इसकी वजह ट्रेन छूटना या ट्रेन चलने के चंद मिनट पहले टिकट कैंसिल होने से सीट खाली हो जाती है। जिसके बाद उस खाली सीट की पूरी डिटेल्स TTE के पास होती है जो उसको मोटी कीमत के साथ किसी अन्य यात्री को दे देता है जिसकी वजह से जो खाली वेटिंग व आरएसी वाले होते है वो उसके हकदार नहीं हो पाते है। इसी असुविधा को ध्यान में रखते हुए हैंड हेल्ड मशीन टीटीई के लिए लायी जा रही है जिससे की यात्रियों को सीट के लिए TTE से गिड़गिड़ाना नहीं पड़ेगा।

इस योजना को तेज़ी से लाया जा रहा है जहां 1000 ट्रेनों में GPS से लैस इसी मशीन से रिज़र्व कैटिगरी वाली कोच के यात्रियों के टिकट की जांच होगी। साथ ही इससे बहुत से यात्रियों को फायदा होगा क्योकि जो सीट खाली होगी उसे TTE अपने मन मर्जी से किसी को नहीं दे सकेगा और ऑटो अपग्रेड के माध्यम से वेटिंग व आरएससी वाले यात्री को सीट एलॉट हो जाएगी और उसके मोबाइल पर बर्थ नंबर भी आ जाएगा।

हालाँकि, इस सुविधा को कुछ प्रीमियम ट्रेनों राजधानी, दुरंतो व शताब्दी में शुरू भी किया है। जिसमे रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि ऐसी करीब 150 ट्रेनों के टिकट चेकिंग स्टाफ को यह मशीन दी गई है। 1,000 ट्रेनों के TTE को यह मशीन उपलब्ध कराई जाएगी जिसकी प्रक्रिया चल रही है।

Aadhya technology
यह भी पढ़े: दिल्ली में शुरू हुआ नया अंडर ब्रिज, 5 इलाको में जाने के लिए 4 लेन होगी सड़क

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button