दिल्ली एनसीआरदेशबिज़नेस

ठप्प हो सकता है एनसीआर, CNG स्टेशन मालिकों ने दी हड़ताल की चेतावनी

पंप संचालक गैस निर्माता कंपनी इंद्रपस्थ गैस लिमिटेड से बहुत समय से अपना कमिशन बढ़ाने की मांग कर रहे है, साथ और भी कई मांगे है

देश की राजधानी दिल्ली में अब लोंगो को समस्या हो सकती है, क्योंकि पंप संचालक गैस निर्माता कंपनी इंद्रपस्थ गैस लिमिटेड से बहुत समय से अपना कमिशन बढ़ाने की मांग कर रहे है, साथ और भी कई मांगे है । उन्होंने कंपनी को केवल 10 दिन की मोहलत दी है । यदि 10 दिन ले भीतर कंपनी ने कोई कदम नहीं उठाया तो सभी पंप संचालक हड़ताल पर बैठ जाएंगे। आज कल ज्यादातर लोग सीएनजी वाले वाहन ही खरीदते है।

राजधानी क्षेत्र में कुल 160 सीएनजी पंप

राजधानी में कुल 160 सीएनजी पंप है। जिसमें हर महीने ढाई करोड किलो गैस की बिक्री होती है। इन पंपों ने ना तो केवल दिल्ली के लोग बल्कि दिल्ली क्षेत्र गुडग़ांव फरीदाबाद, गाजियाबाद के लोग भी आकर गैस भरवाते है। अगर हड़ताल होती है तो इन जिलो के लोगों को बहुत परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

बता दें कि सीएनजी गैस स्टेशनों की हड़ताल होते ही ना केवल दिल्ली एनसीआर क्षेत्र बल्कि हरियाणा में भी सब कुछ ठप्प होने की उम्मीद लग रही है। राजधानी दिल्ली में एनसीआर के शहरों के अलावा भी बहुत से राज्यों के सीएनजी से चलने वाले वाहनों का आना जाना रहता है।

कमीशन बढ़ाने की डिमांड:

कमीशन बढ़ाने और पंप पर जो भी आईजीएल के संसाधन है। उनको चलाने में जो बिजली खर्च होती है, वह उसके भरपाई की मांग कर रहे है। पंप संचालकों ने कहा कि उनको नुकसान झेलना पड़ रहा है। वह अपनी मांग के लिए पंप संचालकों के लिए प्रतिनिधिमंडल ने आईजीएल कंपनी के उच्चाधिकारियों से मिले। उन्होंने कंपनी के उच्चाधिकारियों से अपनी मांग बताते हुए बोला कि वह कंपनी के साथ इतने दिनों से जुड़े हुए है। और कमपनी उनकी मांग को नज़र अंदाज कर रही है। इसलिए वह हड़ताल पर बैठने का निर्णय ले रहे है।

इसी के साथ पंप संचालक ने बोला कि पेट्रोलियम मंत्रालय ने आईजीएल को कमीशन के रूप में 2.28 की जगह 2.53 रुपए देने का निर्णय दिया था। उस हिसाब से पंप संचालकों का आईजीएल पर हजारों रुपए बकाया निकल रहा है। महासचिव तन्य गुप्ता ने बोला कि हमने उच्चाधिकारियों को 10 दिन का समय दिया है। इसके बाद हम हड़ताल पर जाएंगे।

Insta loan services

यह भी पढ़े: सरकारी कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले! DA में हुई जबरदस्त बढ़ोतरी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button