Aadhaar में अब आसान हुआ एड्रेस अपडेट करना, बस कीजिये ये काम, नया नियम लागू

अब भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने आधार में एड्रेस अपडेट (Address Updates in Aadhaar) करने को लेकर नया नियम जारी किया है

भारत में सभी लोगों के पास आधार कार्ड रखना जरूरी है क्योकि ये एक जरूरी डॉक्यूमेंट बन चूका है। लेकिन कई लोग ऐसे भी है जिनके पास ये अभी तक नहीं है और किसी के आधार कार्ड में गलतिया भी है और इसी के चलते अब भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने आधार में एड्रेस अपडेट (Address Updates in Aadhaar) करने को लेकर नया नियम जारी किया है। जानिए पूरी खबर

बता दें कि अब तक आधार में आप पता को बदलने के लिए व्यक्तिगत एड्रेस प्रूफकी जरूरत पड़ती थी। लेकिन अब इसके बिना ही आप अपने आधार में पता बदल सकते है जसिके लिए आपको अपने परिवार के मुखिया के एड्रेस प्रूफ की मदद से आधार में अपना पता बदलवाना होगा और ये जानकारी UIDAI ने दी है। साथ ही आधार में एड्रेस अपडेट कराने से पहले परिवार के मुखिया की सहमति जरूर पडेगी क्योकि उनकी सहमति के बाद ही आप ऑनलाइन अपने आधार में एड्रेस को अपडेट करा सकते हैं।

वही आधार में परिवार के मुखिया के एड्रेस की मदद से ऑनलाइन पता अपडेट करने की सुविधा से उनके बच्चे, पति या पत्नी, माता-पिता के लिए बहुत मददगार साबित हो सकते है। ख़ास बात ये है कि जिन आधार कार्ड होल्डर के पास पता अपडेट कराने के लिए स्वयं के नाम पर सपोर्टिंग डॉक्यूमेंट है तो उनके लिए ये नई सर्विस काफी मदद कर सकती है। UIDAI कि जानकारी के हिसाब से परिवार का मुखिया आधार में एड्रेस अपडेट करने के अनुरोध को 30 दिनों के भीतर स्वीकार या अस्वीकार कर सकता है।

इस पता बदलवाने कि सुविधा के लिए राशन कार्ड, मार्कशीट, विवाह प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आदि जैसे दस्तावेज प्रस्तुत किए जा सकते हैं, लेकिन इसमें परिवार के मुखिया के साथ संबंध स्थापित होना जरूरी है। अगर रिश्ते को स्थित करने वाला भी दस्तावेज उपलब्ध नहीं है, तो परिवार के मुखिया सेल्फ डिक्लरेशन सबमिट कर सकता है।

ऐसे करे अप्लाई

हालाँकि, ऑनलाइन इस सुविधा के लिए आप ‘My Aadhaar’ पोर्टल (https://myaadhaar.uidai.gov.in) में जाकर कोई भी निवासी ऑनलाइन एड्रेस अपडेट करने के विकल्प को चुन सकता है। जिसके बाद निवासी को परिवार के मुखिया के आधार नंबर को दर्ज करवाना होगा और आधार नंबर के अलावा परिवार के मुखिया की अन्य कोई भी जानकारी नहीं दिखेगी।

ये सब करने के बाद परिवार के मुखिया द्वारा वेरिफिकेशन के बाद निवासी को संबंध दस्तावेज का प्रमाण अपलोड करना जरूरी है और इसके लिए 50 रुपये का शुल्क आपको मात्र लगेगा जिसकी पेमेंट के बाद आपको रिक्वेस्ट नंबर मिल जाएगा। इससे जुड़ा SMS भी आपके नंबर पर प्राप्त होगा और अगर परिवार का मुखिया अनुरोध को अस्वीकार कर देता है तो आपको सीधा पैसे वापस कर दिए जाएंगे।

ये भी पढ़े: गाड़ियों के लिए फिर से बदला गया है नंबर प्लेट सिस्टम, लगाई जाएगी Toll Plate

Exit mobile version