देशबिज़नेस

गाड़ियों के लिए फिर से बदला जा रहा है नंबर प्लेट सिस्टम, लगाई जाएगी Toll Plate

टोल प्लाजा से छुटकारा पाने के लिए अब एक नयी चीज़ जुड़ने वाली है जिसकी जानकारी भारत के सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा दी गयी है

देश में बहुत सी नई योजनाए बनाई जा रही है जिससे लोगों को सुविधाएं मिल सके। ऐसे में भारत में ट्रांसपोर्टेशन डिपार्टमेंट पूरी कोशिश कर रहा है की लोगों को टोल के वक़्त रुकने की जरूरत न पड़े जिसके लिए उन्होंने फास्टैग की सुविधा को शुरू किया था लेकिन उसके बाद भी टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर लंबी लाइनों में कोई अंतर नहीं आया। इन सबको देखते हुए अब एक नयी सुविधा के साथ चीज़े लायी जा रही है जहा अब ANPR (ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रीडर) सिस्टम लागू होने जा रहा है।

बता दें कि टोल प्लाजा से छुटकारा पाने के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी काम कर रही है। जिसमे अब एक नयी चीज़ जुड़ने वाली है जिसकी जानकारी भारत के सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा दी गयी है जहां भारत के टोल व्यवस्था को बदलने के लिए कई विकल्प देख रहे हैं जिसमे व्यवस्थाओं में GPS टोल सिस्टम और नए नंबर प्लेट सिस्टम को लागू करने की बात की जा रही हैं।

कैसे करेगा ये काम ?

अभी तक सिर्फ यही देखा जाता है कि हाईवे पर सफर के दौरान गाड़ी में लगे फास्टैग से पैसे काटे जाते हैं। लेकिन नई तकनीक लागू होने के बाद आपके वाहन की नंबर प्लेट स्कैन की जाएगी और FASTag से पैसे काट लिए जाएंगे। इसका फायदा भी है कि लोगों के किलोमीटर के हिसाब से पैसे देने होंगे। जानकारी के मुताबिक टोल पर एक साथ पैसे वसूल किए गए। लेकिन नए सिस्टम में आपको रुपये देने होंगे।

इसी के साथ इस सिस्टम में हाईवे पर एक एंट्री और एक्जिट प्वाइंट बनाया जाएगा। वाहन में प्रवेश करते ही नंबर प्लेट को स्कैन किया जाएगा। फिर प्रवेश और निकास की दूरी के हिसाब से यात्रियों के खाते से पैसे कटेंगे।

दरअसल, इस तकनीक को 2019 से ही शुरू कर दिया था जिसके बाद अब मैन्युफैक्चरर के लिए यह नंबर-प्लेट लगाना अनिवार्य होगा। इसका मतलब पुरानी नंबर-प्लेट्स को नई नंबर प्लेट्स से बदला जाएगा। इस नई नंबर-प्लेट से एक सॉफ्टवेयर जुड़ा होगा, जिससे टोल कट जाया करेगा।

Tez Tarrar App
यह भी पढ़े: CNG हुई पेट्रोल से भी ज्यादा महंगी, दिल्ली के साथ पूरे देश में नए रेट लागू

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button