ट्रेंडिंगदेशबिज़नेस

रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव का बड़ा ऐलान, नवरात्रि से पहले लोगों की बल्ले-बल्ले!

रेल  मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने ऐसा ऐलान किया है, कि आप भी इस खबर को जानने के बाद खुश हो जाएंगे.

Indian Railway: रेल मंत्री (Rail Minister) ने रेल में यात्रा करने वाले लोगों को नवरात्रि से पहले ही बड़ी खुशखबरी दे दी हैं. अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnav) ने ऐसा ऐलान किया है, कि आप भी इस खबर को जानने के बाद खुश हो जाएंगे.

अश्विनी वैष्णव ने जानकारी दी है कि दिल्ली, जयपुर और अजमेर रूट (Delhi-Jaipur Vande Bharat Exp) पर नई वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) का संचालन शुरू किया जा रहा है. 

रेल मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया है कि वंदे भारत ट्रेन का संचालन जयपुर रूट पर 10 अप्रैल से पहले ही शुरू हो सकता है. बता दें कि इस रूट पर वंदे भारत को चलाने के लिए कुछ तकनीकी बदलाव किए जा रहे हैं, जिसके कारण इसमें थोड़ा समय लग रहा है. फिलहाल मौजूद ट्रैक में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं जिसके बाद स्पीड में काफी इजाफा होगा. 

खुद रेल मंत्री इस ट्रेन के संचालन के लिए हो रही तैयारियों का जायजा करने के लिए जयपुर पहुंचे हैं. यहां पर उन्होंने चल रहे कामों का निरीक्षण किया. इसके साथ ही अश्विनी वैष्णव ने खातीपुरा स्टेशन का जायजा लिया. जानकारी के मुताबिक वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन 24 मार्च को जयपुर पहुंच जाएगी. 

बहरहाल, द‍िल्‍ली और जयपुर के बीच वंदे भारत ट्रेन के चलने से दोनों शहरों के बीच यात्रा करने में बेहद कम समय लगेगा. आशा है क‍ि इसके शुरू होने के बाद द‍िल्‍ली से देहरादून पहुंचने में सिर्फ 1 घंटा 45 मिनट का समय लगेगा.

वंदे भारत एक्सप्रेस इन रूट्स पर चल रही हैं

  • नई दिल्ली- वैष्णो देवी कटरा वंदे भारत एक्सप्रेस
  • नई दिल्ली-वाराणसी वंदे भारत एक्सप्रेस
  • चेन्नई-मैसूर वंदे भारत एक्सप्रेस
  • नागपुर-बिलासपुर वंदे भारत एक्सप्रेस
  • सिकंदराबाद-विशाखापत्तनम वंदे भारत एक्सप्रेस
  • मुंबई-साईनगर शिरडी वंदे भारत एक्सप्रेस
  • हावड़ा-न्यू जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस
  • गांधीनगर और मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस
  • मुंबई-सोलापुर वंदे भारत एक्सप्रेस

Accherishtey ये भी पढ़ें: Bisleri का बड़ा फैसला, अब ये महिला होंगी कंपनी की नई मालिक!

Afreen Khan

आफरीन खान तेज़ तर्रार न्यूज़ में बतौर पत्रकार काम कर रही है और इनका मानना है कि पत्रकारिता की एक खासियत है कि वह कभी खामोश नहीं रहती ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button