कोरोना वायरसविश्व

चीन में फिरसे फूटा ‘कोरोना विस्फोट’, 24 घंटे में 32 हजार पॉजिटिव, कई शहरों में रेड अलर्ट

अभी भी जहां से ये बीमारी शुरू हुई थी वहा कोरोना का कहर है क्योकि चीन में कोविड के दैनिक मामले अपने उच्च स्तर पर पहुंच गए है

कोरोना का संक्रमण पूरे विश्व में चल रहा है लेकिन उसका असर कहि कम है तो कहि अभी भी बरकरार है। ऐसे में भारत कि बात करे तो अभी स्थिति नियंत्रण में है। लेकिन अभी भी जहां से ये बीमारी शुरू हुई थी वहा कोरोना का कहर है क्योकि चीन में कोविड के दैनिक मामले अपने उच्च स्तर पर पहुंच गए हैं।

बता दें कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य ब्यूरो के मुताबिक चीन में 24 घंटे में कुल 31,454 मामले दर्ज किए गए हैं। जहां चार दिन पहले यानी 20 नवंबर को 26,824 मामले में सामने आए थे। साथ ही बीजिंग में छह महीने में कोविड-19 से अब तक तीन नई मौतें हो चुकी हैं और चीन में सख्त जीरो कोविड पॉलिसी लागू है। वही देश लॉकडाउन, मास टेस्टिंग और यात्रा प्रतिबंधों के बीच कि संक्रमण चैन को रोकने के लिए लगातार काम कर रहा है।

इतना ही नहीं चीन में कोअभी भी रोना इस कदर पैर पसारे हुए है कि बीजिंग के स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है क्योकि बीबीसी की रिपोर्ट में कहा गया है कि नए उपायों के तहत ये बताया गया है कि बीजिंग से जो यात्रा करके आएगा उसको तीन दिनों के लिए क्वारंटीन में रखा जायेगा।

हालाँकि, इसी महीने ही चीन ने 11 नवंबर को कोविड-19 नियमों में थोड़ी ढील देने की कोशिश की थी जिसमे विदेश यात्रा के बाद अनिवार्य क्वारंटीन को भी खत्म कर दिया गया था और कई शहरों ने बड़े पैमाने पर कोरोना टेस्टिंग को रद्द कर दिया गया था। बीजिंग के हैडियन और चाओयांग जिलों में दुकानें, स्कूल और रेस्तरां बंद कर दिए गए हैं

इन बढ़ते मामलो को देखते हुए स्वास्थ्य अधिकारियों ने चाओयांग के लगभग 3.5 मिलियन निवासियों से घर पर रहने का आग्रह किया गया है। ये इसलिए हुआ क्योकि बीजिंग में सोमवार को 1,400 से अधिक मामलों की पहचान की गई थी और अकेले चाओयांग में 783 केस सामने आए थे और ऐसा पहली बार है जब 2019 के अंत में महामारी शुरू होने के बाद से बीजिंग में एक ही दिन में 1,000 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए है।

Accherishtey ये भी पढ़े: अब दिल्ली में बड़ा सकेंगे मकान की एक और मंजिल, MCD ने दी मंजूरी

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button