कोरोना वायरसदिल्ली

दिल्ली पुलिस ने जारी की रिपोर्ट: जाने किस धार्मिक स्थल में हो रहा है कोरोना नियमो का पालन और किसमे उल्लंघन

दिल्ली पुलिस ने हाल ही में कोविड की तीसरी लहर आने से पहले दिल्ली के 15 जिलों के धार्मिक स्थलों को लेकर एक कोविड प्रोटोकॉल की रिपोर्ट तैयार की है

कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले दिल्ली पुलिस ने कोविड प्रोटोकॉल की रिपोर्ट तैयार की है। रिपोर्ट दिल्ली के 15 महत्वपूर्ण जिलों के धार्मिक स्थलों को लेकर तैयार की गई। दिल्ली पुलिस द्वारा तैयार की गई इस रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में ऐसे बहुत से धार्मिक स्थल हैं जहाँ पर कोरोना नियमों का सही तरीके से पालन नहीं किया जा रहा है।

जामा मस्जिद में कोरोना नियमों का पालन 

कई धार्मिक स्थल कोरोना नियमों को लेकर लापरवाह नज़र आ रहे हैं। इसी बीच ही दिल्ली की जामा मस्जिद ने सभी नियमों का अच्छी तरह से पालन करते हुए एक उदाहरण स्थापित किया है। यहाँ कोरोना नियमों का पूरी एहतियात के साथ पालन किया जा रहा है। इसके अलावा जामा मस्जिद में शुक्रवार को दिन के समय सिर्फ 50 या 60 लोग ही आते हैं। यहाँ कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया रहा है।  

कनॉट प्लेस के हनुमान मंदिर में दिखी लापरवाही 

कनॉट प्लेस के प्राचीन हनुमान मंदिर में रोज़ाना 30 से 40 श्रद्धालु आते हैं। यहाँ सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन नहीं हो रहा है। ज़्यादातर लोग मंदिर परिसर में मास्क भी नहीं पहन रहे हैं। इसके अलावा प्रसिद्ध गुरुद्वारे बांग्ला साहिब में भी सोशल डिस्टैन्सिंग की उड़ी धज्जियां।  

Radhey Krishna Auto

सीक्रेट तौर पर लिया था पुलिस ने जायज़ा  

दिल्ली पुलिस ने शहर के कई प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों का गुप्त तौर पर जायज़ा लिया था। पुलिस को कई जगहों पर तो नियमों का पालन होता नज़र आया जबकि कई बहुत से स्थलों पर लापरवाही दिखी। दिल्ली के प्रसिद्ध प्राचीन कालकाजी मंदिर में रोज़ 100-125 श्रद्धालुओं की भीड़ आती है। यहाँ भी कोविड नियमों को फॉलो नहीं किया जा रहा है। 

हालांकि दिल्ली के साउथ-वेस्ट जिले में धार्मिक स्थलों पर कम ही लोग आ रहे हैं। इसके अलावा साउथ जिले में 2 मस्जिद, 3 मंदिर और 10 गुरुद्वारों में प्रोटोकॉल का सही तरीके से पालन नहीं हो रहा है। हालांकि ईस्ट जिले में अक्षरधाम मंदिर के साथ 4 बड़े मंदिर हैं। इसके आलावा यहाँ की 46 मस्जिदों में सिर्फ केयर टेकर और इमाम ही नमाज़ पढ़ रहे हैं। शुक्रवार को भी सीमित संख्या में ही लोग आते हैं। कोई मदरसा भी नहीं खुला है। हालांकि राजधानी के नार्थ-वेस्ट जिले के 2 चर्च और 1 मस्जिद को कोविड नियमों का पालन ना करने के कारण बंद कर दिया गया।     

ये भी पढ़े:- दिल्ली मे उधार के पैसे ना चुकाने पर शख्स के किए दो टुकड़े

Vasundhra Tyagi

वसुंधरा त्यागी कंटेंट मार्केटिंग और राइटिंग की फील्ड में करीब 2 साल से कार्यरत हैं। वर्तमान में तेज़ तर्रार मीडिया में बतौर राइटर और एडिटर अपना रोल निभा रही हैं। इन्होंने दिल्ली से जुड़े कई मुद्दों और आम आदमी की समस्याओं को अपने लेख में प्रकाशित कर सम्बंधित अधिकारियों और विभागों का ध्यान इन समस्याओं की और केंद्रित करवाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button