कोरोना वायरसविश्व

कोरोना के नए वैरिएंट XE ने बढ़ाई चिंता, ओमिक्रॉन से 10 गुना ज्यादा संक्रामक

दुनिया भर में कोरोना ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है। नया वैरिएंट ओमिक्रॉन के सब-वैरिएंट BA.2 से 10 गुना ज्यादा घातक हो सकता है।

दुनिया भर में कोरोना ने एक बार फिर से चिंता बढ़ा दी है। दरअसल विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने कोरोना के एक और वैरिएंट की चेतावनी दी है। बता दें कि एक नया म्यूटेंट वैरिएंट XE ओमिक्रॉन के सबवैरिएंट BA.2 से भी 10 गुना ज्यादा घातक हो सकता है। इसकी जानकारी देते हुए WHO ने चिंता जाहिर की।

XE वैरिएंट क्या है?

आपको बता दें कि XE ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BA.1 और BA.2 का रीकॉम्बिनेंट वैरिएंट है। वही WHO की नई रिपोर्ट के अनुसार जब तक इसके ट्रांसमिशन रेट और बीमारी में महत्वपूर्ण बदलाव नहीं नजर आते, तब तक इसे ओमिक्रॉन वैरिएंट से ही जोड़ा जाएगा। साथ ही साथ रिपोर्ट के मुताबिक XE वैरिएंट ओमिक्रॉन के सबवैरिएंट BA.2 से भी 10 गुना ज्यादा खतरनाक हो सकता है। लेकिन इसकी पुष्टि के लिए अभी आकड़ो की ज़रूरत है।

कब मिला था पहला मामला?

जानकारी के अनुसार XE वैरिएंट का पहला मामला 19 जनवरी को पता चला था। पहले मामले की पुष्टि यूके में हुई थी। जिसके बाद से लेकर अभी तक 600 मामले सामने आए है। ब्रिटेन की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी का कहना है कि संक्रामकता, गंभीरता जानने के लिए अधिक सबूत नहीं है।

WHO की XE के साथ XD पर नजर!

जानकारी के लिए बता दें कि WHO XE वैरिएंट पर नजर बनाए हुए है। साथ ही साथ WHO एक और रीकॉम्बिनेंट वैरिएंट XD पर भी नजर बनाए हुए है। XD वैरिएंट डेल्टा और ओमिक्रॉन का हाइब्रिड है। वही इसके ज्यादा मामले फ्रांस, डेनमार्क, और बेल्जियम में पाए गए है।

Tax Partner

ये भी पढ़े: धरती पर मंडरा रहा है एक बड़ा खतरा, टकरा सकता है सौर तूफान

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button