कोरोना वायरसदिल्ली

Vaccination- दिल्ली सरकार के नए निर्देश, 11 लोग हैं तो ही खुलेगी वैक्सीन की शीशी

दिल्ली सरकार ने वैक्सीन की बर्बादी को देखते हुए उठाये सख्त कदम , 11 लोगों का वक्सीनशन सेंटर पर होना है ज़रूरी, तभी खुलेगी वैक्सीन की शीशी

दिल्ली सरकार ने वैक्सीन की बर्बादी से बचने के लिए एक नया कदम उठाया है। दिल्ली सरकार के अनुसार वैक्सीन की शीशी तब तक खोली नहीं जाएगी जब तक कम से कम टीकाकरण केंद्र पर 11 लोगों की उपस्थिति नहीं होगी। दिल्ली सरकार द्वारा यह आदेश टीकाकरण केंद्रो के प्रमुख को भेज दिया गया है और उनके आदेश का सख्ती से पालन करने को भी कहा है।

सरकार ने यह निर्देश ज़िलावर टीकाकरण केंद्र प्रमुखों के बने व्हाट्सएप्प ग्रुप में जारी किया है और जिसमे कहा है कि दिल्ली में अब तक करीब 19 हज़ार से ज़्यादा वैक्सीन की खुराक बर्बाद हो चुकी है। निर्माताओं के मुताबिक सभी वैक्सीन की शीशियों में 11 डोज़ हैं। दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देश में यह भी कहा गया है कि चिकित्सिक प्रभारी यह सुनिश्चित करें कि सभी वैक्सीन की शीशियों में 11 खुराकें दिखाई दें, और इसी के अनुसार सभी टीकाकरण कर्ताओं को शिक्षित किया जाना चाहिए। वैक्सीन सेंटर पर 11 लोगों का मौजूद होना या अगले 4 घंटे में 11 लोगों की उपस्थिति होने की संभावना हो तो तभी वैक्सीन की शीशी खोली जानी चाहिए।

जानकारी के मुताबिक, अगली 19 हज़ार शीशियों में दिल्ली सरकार का लक्ष्य अपव्यय को शून्य तक लाने का है। सरकार ने इन निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा है। इसके चलते ज़िलेवार समीक्षा प्रति दिन की जाएगी और मुख्यमंत्री कार्यालय को भी उसकी रिपोर्ट भेजी जाएगी।

Aadhya technology

स्वास्थय विभाग के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों की शीशी से एक-एक एक्स्ट्रा डोज़ निकाली जा सकती है। लेकिन उसके लिए काफी सावधानी बरतने की ज़रूरत है क्योंकि कम लोग, तापमान और 4 से 6 घंटे के निर्धारित समय जैसे पैरामीटर का पालन करना ज़रूरी है।

अधिकारी ने सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया ( SII ) के उस पत्र पर कुछ नहीं कहा जिसमें कंपनी ने कहा है कि उनकी हर शीशी में 6 एमएल वैक्सीन होती है और वैक्सीन का 0.5 एमएल हर एक व्यक्ति को देना ज़रूरी है। कंपनी ने यह भी कहा है कि अगर हर शीशी से सरकार एक्स्ट्रा डोज़ निकालने पर ज़ोर देगी तो लोगों को इससे कम मात्रा में वैक्सीन लगने की संभावना बढ़ सकती है, क्योंकि वैक्सीन की कुछ बूंदे उसकी शीशी के ढक्कन, सिरिंज आदि जगहों पर रह जाती है। इसलिए इन बातों को ध्यान में रख कर देखा जाए तो ऐसा ज़रूरी नहीं कि वैक्सीन की हर एक शीशी में से एक्स्ट्रा डोज़ निकाली जाए।

ये भी पढ़े: दिल्ली 28 जुलाई 2021, बुधवार का कोरोना बुलेटिन

Rahil Sayed

राहिल सय्यद तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने दिल्ली से सम्बंधित बहुत सी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button