अपराधदिल्ली

भिखारी प्रसाद की मौत के बाद विधवा से ठगे लाखों रुपये, जानिए पूरा मामला

पीड़िता का आरोप है कि आरोपी ने उसके पति से भी पहले पांच लाख रुपये उधार लिए हुए थे। ये पैसे भी आरोपी नहीं लौटा रहा है।

शाहदरा जिले के कृष्णा नगर इलाके में विधवा महिला से 13.50 लाख रुपये ठगने का एक मामला सामने आया है। बीमारी के कारण महिला के पति की मृत्यु हो गई थी। इसके बाद महिला को इंश्योरेंस के कुल 17.83 लाख रुपये मिले थे। आरोपी शख्स ने इंश्योरेंस के रुपये जल्द दिलाने का महिला को झांसा देकर वारदात को अंजाम दिया। महिला के शिकायत देने पर पुलिस ने आरोपी चंदर मोहन के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है।

पीड़िता का आरोप है कि आरोपी ने उसके पति से भी पहले पांच लाख रुपये उधार लिए हुए थे। ये पैसे भी आरोपी नहीं लौटा रहा है। कृष्णा नगर थाना पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस के अनुसार, राजगढ़ कॉलोनी निवासी 32 वर्ष की मंजू देवी के परिवार में बेटी और दो बेटे हैं। महिला के पति भिखारी प्रसाद की 22 सितंबर, वर्ष 2021 को बीमारी की वजह से मौत हो गई थी।

पति ने पहले से इंश्योरेंस कराया हुआ था। पति के मित्र चंदर मोहन ने महिला को आश्वासन देते हुए कहा कि वह इंश्योरेंस के पैसे उसको जल्द दिलवा देगा। आरोपी ने महिला से एक रद्द चेक और दो खाली चेक ले लिए। आरोपी ने महिला को कहा था कि वह खाली चेक जल्द वापस लौटा देगा, लेकिन महिला के बार-बार कहने के बावजूद आरोपी ने खाली चेक वापस नहीं लौटाए।

आरोपी ने रुपये दिलाने के नाम पर महिला का हेल्थ कार्ड, इंश्योरेंस कार्ड और दूसरे दस्तावेज भी ले लिए और फिर बाद में आरोपी ने धोखे से महिला से एक चेक पर फर्जी हस्ताक्षर कर बैंक खाते से कुल 13.50 रुपये निकाल लिए। इतनी बड़ी रकम निकलने के बावजूद पीड़िता के मोबाइल पर कोई भी एसएमएस नहीं आया और न ही बैंक ने कुछ सूचित किया। वहीं, महिला का आरोप है कि आरोपी को मकान खरीदने के लिए रुपयों की जरूरत पड़ी थी तो पति ने उसको पांच लाख रुपये भी उधार दिए थे। अब वह रुपये भी आरोपी नहीं दे रहा है।

Accherishtey

ये भी पढ़े: राजौरी गार्डन में जगह को लेकर विवाद में किन्नर की सुपारी देकर हत्या

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button