अपराधदिल्लीसाइबर क्राइम

दिल्ली: 60 से ज़्यादा फ़र्ज़ी वेबसाइट बनाकर 10 हज़ार से अधिक लोगों को लगाया चूना

दिल्ली पुलिस के हाथ लगी एक बड़ी कामयाबी, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) घोटाले का दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने किया खुलासा

दिल्ली पुलिस के साइबर सेल के हाथ लगी एक बड़ी कामयाबी,  सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO)  घोटाले का दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने खुलासा किया,  जिसमें फेक ई-कॉमर्स वेबसाइटों की मदद से हज़ारों लोगों को चूना लगाया गया। 

इस मामले के मास्टरमाइंड विजय अरोड़ा के साथ पुलिस ने 5 और लोगों को अपनी गिरफ्त में लिया है। इलेक्ट्रॉनिक सामान और कपड़ो के लिए आरोपियों ने कई फेक शॉपिंग वेबसाइट बनाई थी जिससे उन्होंने काफी लोगों को ठगा।

साइबर सेल के डीसीपी अनियेश रॉय के अनुसार, ऑनलाइन सर्च की मदद से जो लोग कपड़े और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स की ऑनलाइन खरीदारी करते थे उन लोगों को इन फेक वेबसाइटों ने अपना निशाना बनाया और मेहेंगे सामानों को बहुत सस्ते में बेचने का लालच दिया। 

जानकारी के मुताबिक, इन फ़र्ज़ी वेबसाइटों पर ग्राहकों को ऑनलाइन पेमेंट के लिए कहा गया लेकिन ग्राहकों द्वारा खरीदा हुआ सामान उन्हें नहीं भेजा गया, ऐसा होने पर पीड़ितों ने अपने पैसे वापस मांगे और आरोपियों पर दबाव डाला तो उन्होंने काफी सस्ता और घटिया सामान ग्राहकों को भेज दिया। 

Insta loan services

आरोपियों ने 10 हज़ार से ज़्यादा लोगों से लगभग 25 करोड़ रूपये ठगे हैं, साइबर सेल को इस मामले की कई शिकायतें मिली थी, ग्राहकों ने  ‘www.bookmytab.com’ वेबसाइट पर टैबलेट की खरीदारी में बईमानी का आरोप लगाया था। 

आरोपियों की पहचान मुख्य आरोपी विजय अरोड़ा, अवतार सिंह, प्रदीप कुमार, राजकुमार और मनमीत सिंह के रूप में हुई। सूत्रों के अनुसार, 3 साल पहले विजय ने फ़र्ज़ी वेबसाइट बनाकर लोगों को ठगना शुरू किया था और तब से अब तक वह 60 से ज़्यादा फ़र्ज़ी शॉपिंग वेबसाइट बना चुका है।

बदमाशों द्वारा बनाई गई कुछ फ़र्ज़ी वेबसाइट: “बुकमायटैब”, “नारिदुकान”, “परबाजार”, “स्लिमफिटकलेक्शन”, “द स्क्वेयरज़ोन” , “वस्त्रालय”, “बुकामोबाइल”, “योरमोबाइल” आदि। 

ये भी पढ़े: पहाड़गंज और करोल बाग के 700 से अधिक गेस्टहाउस और छोटे होटलों पर लगेगा ताला

Rahil Sayed

राहिल सय्यद तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने दिल्ली से सम्बंधित बहुत सी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button