साइबर क्राइम

QR कोड या लिंक के सहारे भी हो रही है ठगी, ऐसे रहें अलर्ट

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है वैसे ही उसे जुड़े अपराधों को भी दिन पर दिन बढ़ावा मिलता नज़र आ रहा है।

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है वैसे ही उसे जुड़े अपराधों को भी दिन पर दिन बढ़ावा मिलता नज़र आ रहा है। इन अपराधों का बढ़ना काफी चिंताजनक भी साबित हो रहा हैं। जहां एक ओर लोगों के साथ आए दिन अलग अलग तरह के फ्रॉड के मामले सामनें आ रहे है तो वहीं अब ये बहुत ज्यादा जरूरी हो गया है कि स्कैमर्स की तरह आम लोगों को भी स्मार्ट होने की जरूरत हैं।

जिसके चलते आज हम आपकों कुछ ऐसे ही फ्रॉड के बारे में बताएंगे साथ ही उनसे कैसे बचा जाए, किस तरह आप उनसे सेफ रहे सकते है वो सब भी इस वीडियो के जरिए हम आपकों बताने की कोशिश करेंगे। सबसे पहले अगर आप कोई भी पॉपुलर वेबसाइट से सामान बेच या खरीद रहे है तो ये बहुत जरूरी है कि आप साइबर ठगों से अलर्ट रहें, ये ठग QR कोड स्कैन या लिंक भेजकर आपके अकाउंट में सेंध लगा सकते है।

अब इससे जुड़े फ्रॉड के मामले लगातार सामने आ रहे हैं: 

UPI फ्रॉड: इस फ्रॉड के चलते बिना मोलभाव किए ठग आपको पैसे ट्रासंफर करने के लिए तैयार हो जाएगा। जिसके बाद आपके पास तुरंत SMS आएगा, जिसमें लिखा होगा कि इतने पैसे आपके अकाउंट में पहुंच गए है, अप्रूव करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। ये लिंक आपके फोन पर किसी UPI ऐप का होगा। लेकिन जैसे ही आप उस लिंक पर क्लिक करेंगे, पैसे आने की जगह चले जाएंगे।

QR कोड फ्रॉड: इसके भी काफी मामले सामने आ रहे हैं, जैसी की अगर आप पॉपुलर वेबसाइट पर कुछ सामान बेच रहे है तो ठग आपकों एक QR कोड बेजेगा। कोड को UPI ऐप से स्कैन करने के लिए कहेगा, साथ ही बताएगा कि इसको स्कैन करते ही आपके खाते में पैसे पहुंच जाएंगे। लेकिन अगर आपने बिना सोचे समझे ही उसको स्कैन करके UPI पिन डाल दिया, तो समझलेना आपके खाते में पैसे आने की जगह चले जाएंगे। कई बार वही ठग दोबारा आपसे संपर्क करेगा और बोलेगा कि उसने गलत QR Code भेज दिया था और वो पैसे लौटाना चाहता है। पैसे लौटाने के नाम पर एक और QR कोड आएगा और अगर यहां भी आपने गलती कर दी तो आप दोबारा पैसे गवा बैठेंगे।

नकली पेमेंट रसीद: इसमें अगर आप कोई सामान बेच रहे है तो ठग आपसे सामान भेजने को कहेगा और आपके एक नकली पेमेंट की रसीद जैसे NEFT ट्रांसफर का स्ट्रीनशॉट, ये कहकर भेजेगा की पैसे उसने ट्रांसफर कर दिए है, फिर वो कहेगा कि बैंक के सर्वर में कोई दिक्कत होगी, थोड़ी देर में पैसे मिल जाएंगे।

आर्मी जवान बनकर फेक ID दिखाने से पिछे नहीं हटते: एक्सपर्ट का कहना है कि भरोसा जीतने के लिए ये ठग खुद को आर्मी या किसी सरकारी विभाग के Employee बताता हैं, और तो और नकली ID भी दिखाता हैं।

अब अगर आपका भी कोई ऑनलाइन Business है तो इन बातों को ध्यान में रखकर आप इन जालसाज़ो से बच सकते हैं। सबसे पहले किसी भी अनजान खरीदार से वॉट्सऐप या मैसेंजर जैसे सोशल मीडिया पर चैट करने से बचें। उसके बाद खरीदने या बेचने में जल्दबाजी ना दिखाएं, ऑनलाइन पेमेंट लेते समय पूरी सावधानी बरतें। फिर जरूरी बातों को छोड़कर कोई भी निजी या फाइनैंशल जानकारी शेयर करने से बचे। 

Accherishtey

ये भी पढ़े: RITES Limited 2023 Recruitment: RITES में 7 इंजीनियरिंग पेशेवर पदों पर निकली बम्पर भर्ती, ऐसे करें आवेदन

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Back to top button