देशसाइबर क्राइम

नामी कंपनी का सीमेंट सस्ते में दिलाने का झांसा देकर लाखों ठगे, आरोपी गिरफ्तार

बदमाशों ने दक्षिण दिल्ली के एक शख्स से 57.50 लाख रुपये की ठगी की थी। जांच करने के बाद पुलिस को ये पता चला है कि बदमाशों ने देशभर के काफी...

देशभर के काफी लोगों को नामी कंपनी का सीमेंट सस्ते में दिलाने का देते थे झांसा। बदमाशों को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने बिहार के नवादा से गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान बिहार निवासी 25 साल के चंदन कुमार भुइयान और 23 साल के गोपाल उर्फ सत्यम के रूप में हुई है। पुलिस ने पकडे गए आरोपियों के पास से कुल 1.01 करोड़ रुपये के अलावा वारदात में उपयोग मोबाइल फोन, सिमकार्ड, एटीएम और साथ ही भारी मात्रा में दस्तावेज बरामद किए हैं।

बदमाशों ने दक्षिण दिल्ली के एक शख्स से 57.50 लाख रुपये की ठगी की थी। जांच करने के बाद पुलिस को ये पता चला है कि बदमाशों ने देशभर के काफी कारोबारियों को सस्ता सीमेंट दिलाने का झांसा देकर ठगा है। बता दे की गिरोह सरगना चंदन दसवीं फेल है और आरोपी गोपाल नवादा के कॉलेज से बीएससी कर रहा है। अपराध शाखा के विशेष आयुक्त रविंद्र सिंह यादव के अनुसार दक्षिण दिल्ली निवासी पीड़ित जुगल किशोर जैन ने 22 सितंबर, वर्ष 2022 को अपराध शाखा को कुल 57.50 लाख ठगने की शिकायत की थी।

पीड़ित जुगल किशोर ने बताया कि उसके मोबाइल फोन पर अल्ट्राटेक कंपनी के नाम से एक मैसेज आया हुआ था। इस मैसेज में दावा किया गया था कि अगर वे सीमेंट के कुल 2000 बैग खरीदते हैं तो उनको सिर्फ 300 रुपये प्रति बैग के हिसाब से रकम चुकानी होगी। पीड़ित शख्स ने दिए गए उस नंबर पर संपर्क किया तो आरोपी ने खुद को कंपनी का सीनियर सेल्स शंकर पुरोहित नामक मैनेजर बताया और फिर इसके बाद पीड़ित और आरोपी की लगातार व्हाट्सएप कॉल पर बातचीत होने लगी। आरोपी के कहने पर पीड़ित जुगल कुल 4000 बैग खरीदने के लिए तैयार हो गए। इसके बाद आरोपी द्वारा बताए गए खाते में उन्होंने 12 लाख रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिए और फिर इसके बाद दीपावली ऑफर के नाम पर पीड़ित जुगल को 10 हजार बैग खरीदने के लिए आरोपियों द्वारा तैयार किया गया।

पीड़ित जुगल को 270 रुपये प्रति बैग सीमेंट देने का आरोपी ने झांसा दिया गया। आरोपियों के कहने पर जुगल ने उनके खाते में 27 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए और फिर इसके बाद दोबारा पीड़ित को जम्मू एवं कश्मीर का वितरक बनाने का झांसा देकर 18.50 लाख रुपये लिए गए। पीड़ित ने आरोपियों के खाते में कुल 57.50 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद आरोपियों ने अपने सभी मोबाइल फोन बंद कर लिए। ठगी का अहसास होने पर पीड़ित द्वारा शिकायत की गई। मामले में जांच कर रही पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर बिहार के नालंदा और नवादा में छापे मारे। यहां से आरोपी चंदन और आरोपी गोपाल को गिरफ्तार कर लिया गया।

दोनों आरोपियों के पास से कुल एक करोड़ रुपये और अन्य सामान बरामद हुआ। आरोपी गोपाल का काम सिमकार्ड, पीड़ितों से ठगी की रकम मंगाने के लिए बैंक खातों का इंतजाम करने का था। ठगी की रकम को भी आरोपी गोपाल निकालता था। पुलिस ने पकड़े गए दोनों आरोपियों को बिहार के कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर राजधानी दिल्ली भेज दिया गया।

Accherishtey

ये भी पढ़े: गर्भवती पत्नी को हॉस्पिटल ले गए व्यक्ति पर लगा दुष्कर्म केस, जानिए पूरा मामला

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button