देशसाइबर क्राइम

बेच रहा था ताजमहल की फर्जी टिकट, पुलिस ने दबोचा

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ताजमहल की फ़र्ज़ी टिकट बेचकर कर रहा था घोटाला। आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) की शिकायत पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया है।

एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ताजमहल की फ़र्ज़ी टिकट बेचकर कर रहा था घोटाला। आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) की शिकायत पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया है।

मामला एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के घोटाले का है जो वेबसाइट के ज़रिए देशों विदेशों से आने वाले टूरिस्टों को ताजमहल की टिकट बेचता था। वह टिकट कराने वाले इन टूरिस्टों से पेमेंट तो ले लिया करता था, लेकिन उनके टिकट जनरेट नहीं होते थे।

जब आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) के डीजी डायरेक्टर जनरल को इस धोखाधड़ी का पता चला, तो उन्होंने इसकी शिकायत दिल्ली पुलिस से की। ASI की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने शख्स को गिरफ्तार कर लिया है।

जाँच के दौरान पुलिस ने बताया कि संदीप चांद नामक गिरफ्तार आरोपी पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। वह नॉएडा की एक कंपनी में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर काम करता था। लेकिन लॉकडाउन में नौकरी छूट जाने के कारण उसने ये वेबसाइट बनाई और फर्जीवाड़ा करना शुरू कर दिया।

पुलिस ने ASI की शिकायत पर आरोपी को उत्तराखंड के चम्पावत से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसका मोबाइल और लैपटॉप भी बरामद कर लिया है।

Tax Partner

ये भी पढ़े: SC के सामने सैलरी ना मिलने की वजह से शख्स ने खुद को लगाई आग

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button