अपराधट्रेंडिंगदिल्लीदेश

लॉरेंस बिश्नोई पर कसने लगा दिल्ली पुलिस का शिकंजा, 10 शूटर्स के खिलाफ…

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बिश्नोई और उसके गैंग के 10 शूटर्स के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है

पंजाब के लोकप्रिय गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के बाद से सबसे ज्यादा चर्चा में रहे लॉरेंस बिश्नोई और उसकी गैंग के गोल्डी बरार, सचिन बराड़ और दीपक मुंडी पर अब कानून का एकऔर चाबुक चल गया है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बिश्नोई और उसके गैंग के 10 शूटर्स के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है.

इनमें से गोल्डी बरार कनाडा में बैठा है, जबकि लॉरेंस बिश्नोई पंजाब पुलिस की कस्टडी में है. वहीं सचिन बिश्नोई और काला जठेड़ी को लेकर खबर है कि वे दुबई भाग चूका हैं, जबकि मुसेवाला हत्याकांड में वॉन्टेड लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर दीपक मुंडी फरार चल रहा है.

पुलिस ने यह चार्जशीट दिल्ली के मोहन गार्डन इलाके के एक रियल स्टेट बिजनसमैन की हत्या की साजिश रचने और उससे 1 करोड़ की प्रोटेक्शन मनी की डिमांड करने के साथ आपराधिक साजिश रचने की संगीन धाराओं में दाखिल की है.

स्पेशल सेल के ACP ललित मोहन नेगी और इंस्पेक्टर रविन्द्र त्यागी के मुताबिक, मोहन गार्डन इलाके में 30 मार्च 2021 को एक बिजनेसमैन के दफ्तर पर गोल्डी बरार, लॉरेंस बिश्नोई और सचिन बिश्नोई के गुर्गों ने एक शूटआउट को अंजाम दिया था. इस गोलीबारी में बिजनेसमैन के दोनों पैरों में गोली लगी थी.

इस मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 5 शूटर्स को राजस्थान के हनुमान गढ़ और श्री गंगानगर से गिरफ्तार किया था, जबकि नीमच से गैंग को हथियार सप्लाई करने वाले आरोपी की गिरफ्तारी हुई थी. इसके अलावा तिहाड़ जेल, गुरुग्राम और रोहतक जेल में बंद लॉरेंश गैंग के 6 शूटर्स को भी नामजद किया था.

चार्जशीट में खुलासा किया गया है कि कैसे लॉरेंस बिश्नोई गैंग जेल के अंदर और कनाडा-दुबई से अपना गैंग ऑपरेट कर रहा है. कैसे बड़े बिजनेस मैन रियल एस्टेट कारोबारी, केबल कारोबारी, शराब कारोबारियों, नेताओं, सिंगर और म्यूजिक कंपनी के मालिकों से प्रोटक्शन मनी वसूलने का काम अंजाम देती है.

स्पेशल सेल की चार्जशीट में खुलासा हुआ था कि कनाडा में बैठा गोल्डी बरार और दुबई में मौजूद सचिन बिश्नोई लगातार दिल्ली- हरियाणा की जेलों में बंद लॉरेंस गैंग के शूटर्स से बात करते थे. लॉरेंस बिश्नोई भी जेल के अंदर से ही अपने नेटवर्क के जरिये गुर्गों को आदेश दे रहा था. इसके बाद जेल में बंद लॉरेंस के गुर्गे बाहर मौजूद अपने साथियों को इस शूटआउट का प्लान तैयार करने का निर्देश दिया.

वहीं मुसेवाला हत्याकांड का 6वां शूटर हरियाणा का रहने वाला दीपक मुंडी भी हथियार सप्लाई करने के टास्क से जुड़ा हुआ था. पुलिस चार्जशीट के मुताबिक, इस गैंग के शूटर्स के कब्जे से 5 हथियार और करीब 80 कारतूस बरामद हुए थे.

Hair Crown Salon

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button