अपराधदिल्ली एनसीआर

स्कूल न जाना पड़े इसलिए दसवीं के छात्र ने करि अपने ही दोस्त की हत्या

गाजियाबाद के मसूरी में 16 साल के दसवीं के छात्र ने आठवीं में पढ़ने वाले अपने दोस्त नीरज कुमार (13) की जान सिर्फ इसलिए ले ली ताकि उसे स्कूल..

गाजियाबाद के मसूरी में 16 साल के दसवीं के छात्र ने आठवीं में पढ़ने वाले अपने ही दोस्त नीरज कुमार की जान सिर्फ इसलिए ले ली ताकि उसे स्कूल न जाना पड़े। सोमवार शाम को गला दबाकर हत्या करने के बाद वह खुद गार्डन एंक्लेव पुलिस चौकी पहुंचा और पुलिसवालों से कहने लगा कि उसे जेल भेज दो, वह पढ़ना नहीं चाहता है।

पहले तो पुलिस को उस पर यकीन नहीं हुआ लेकिन जब उसकी बताई गई जगह पर नीरज का शव मिला तो पुलिसवाले हैरान हो गए। छात्र ने पूछताछ में बताया कि पहले बात करते-करते अचानक से नीरज का गला दबाया और फिर कांच की बोतल से गला काटने की कोशिश की। इसके बाद उसे हिला-डुलाकर देखा तो वह मृत था।

मौत हो जाने की पुष्टि के बाद ही वह वहां से चला गया। मामला मसूरी थाना क्षेत्र के ननकागढ़ी गांव का है। नीरज और आरोपी छात्र का घर पड़ोस में हैं। दोनों साथ खेलने जाते थे। आरोपी छात्र से पूछताछ के हवाले से एसपी देहात और डॉ. ईरज रजा ने बताया, आरोपी को स्कूल जाना अच्छा नहीं लगता था।

परिवार के लोग दबाव बनाकर स्कूल भेज देते थे लेकिन वहां उसका बिलकुल मन नहीं लगता था। वह पढ़ाई में कमजोर था और अंक बहुत कम आते थे। आरोपी छात्र महीने में दस से ज्यादा छुट्टी कर लेता था। आरोपी ने बताया है कि उसने कई जगह सुना है कि जेल में पढ़ाई नहीं होती है। इसी वजह से यह सोच लिया कि अगर वह जेल चला जाए तो पढ़ाई से छुटकारा मिल जाएगा।

इसके बाद से वह जेल जाने के तरीके सोचने लगा। आरोपी छात्र को लगा कि वह हत्या के जुर्म में जेल में लंबे समय रहेगा, इसलिए यह वारदात को अंजाम दिया। आरोपी मंगलवार को बाल सुधार गृह भेजा जाएगा। आरोपी छात्र ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसने हत्या की साजिश कई दिन पहले ही तैयार कर ली थी। वह नीरज को रोज शाम को खेलने के बहाने बुला लेता था।

आरोपी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के फ्लाईओवर के नीचे हत्या करना चाहता था। पिछले तीन दिन से इसकी कोशिश कर रहा था लेकिन मौका हाथ में नहीं आ रहा था। वहां कोई न कोई आ जाता था। सोमवार को उसे दोपहर साढ़े तीन बजे ले गया था। मौका मिलते ही साढ़े पांच बजे उसकी हत्या कर दी। इसके बाद सीधे चौकी पहुंच गया। आरोपी दो भाइयों में बड़ा है। उसके पिता निजी कंपनी में कर्मचारी हैं और नीरज के पिता विनोद ने तहरीर दी है।

Vishalgarh Farms

यह भी पढ़े: युवती ने घर के बाहर शराब पीने से रोका तो आरोपी ने कर दिया चाक़ू से हमला

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button