अपराधदिल्ली एनसीआर

सदर के भाजपा विधायक प्रदीप चौधरी की मां के कान काटकर लूटे कुंडल

बाइकर्स गैंग के बदमाशों ने भाजपा विधायक प्रदीप चौधरी की मां पर तमंचा तानकर कुंडलों पर झपट्टा मारा लेकिन झपट्टे में कान से कुंडल...

बुलंदशहर सदर के भाजपा विधायक प्रदीप चौधरी की 80 वर्ष की मां संतोष देवी के गाजियाबाद के प्रताप विहार में कुंडल लूट लिए गए। संतोष देवी सुबह की सैर पर निकली थीं। आरोपियों ने तमंचा तानकर संतोष देवी के कुंडलों पर झपट्टा मारा लेकिन जब झपटा मारने पर कान से कुंडल नहीं निकले तो बदमाशों ने दोनों कानों में कटर से कट मार दिए।

पीड़िता लहूलुहान हो गईं और बदमाश कुंडल लूटकर भाग निकले। घटना शुक्रवार की सुबह के समय की है। प्रताप विहार में अपने छोटे बेटे जीतपाल के साथ रह रहीं 80 वर्ष की संतोष देवी घर से सुबह की सैर पर निकली थीं।

जीतपाल के कहना है कि देहली पब्लिक स्कूल के पास पहले से ही दो बदमाश बाइक पर घूम रहे थे। जैसे ही मां संतोष देवी वहां पहुंचीं तो पहले तो आरोपियों ने कुंडल लूटने के लिए उन पर तमंचा तान दिया। बदमाशों ने पहले संतोष देवी से कहा कि वह कुंडल निकालकर खुद दे दें लेकिन इसके बाद बदमाशों ने खुद झपट्टा मार दिया।

लेकिन जब इसमें नाकामी मिली तो बदमाशों ने कटर का इस्तेमाल किया। संतोष देवी की चीख निकली तो आसपास से लोग आ गए। यह देख कर बदमाश कुंडल लेकर फरार हो गए। इसके बाद तत्काल पुलिस को जानकारी दी और भाई प्रदीप चौधरी बाहर गए हुए हैं। उन्हें इसकी सुचना नहीं दी थी। प्रदीप चौधरी का आवास इंदिरापुरम में है।

विधायक प्रदीप चौधरी को कहीं से पता चल गया कि उनकी मां संतोष देवी के साथ कुंडल लूटने की वारदात हो गई है। बताया गया कि लुटेरों को पकड़ने का प्रयास करना तो दूर है लेकिन पुलिस ने मामले में रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की है जबकि तहरीर शुक्रवार के दिन ही दे दी गई थी। इस मामले में प्रदीप चौधरी ने रविवार को एसएसपी को फोन किया। इसके बाद विजय नगर थाना पुलिस ने कुंडल लूट मामले में केस दर्ज किया लेकिन इसके बाद भी अभी तक बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

दो दिन तक रिपोर्ट दर्ज न करने के मामले में विजय नगर थाना पुलिस पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। संतोष देवी के बेटे जीतपाल ने बताया कि डीपीएस से करीब100 मीटर की दूरी पर ही पुलिसवाले मौजूद थे। बदमाशों के चले जाने के बाद संतोष देवी उनके पास गईं और उन्हें लूट के मामले की जानकारी दी।

लेकिन पुलिसवालों ने आरोपियों की तलाश करने के बजाय मां से ही सवाल करने लगे और कहा कि वह यहां क्यों घूम रही हैं? और इसके बाद भी पुलिसवालों ने आरोपियों की न तो खुद तलाश की और न ही इसकी सुचना थाना पर दी। अगर पुलिस उसी समय घेराबंदी कर लेती तो बदमाश पकड़े जा सकते थे।

जब वहां मौजूद और लोगों ने भी सवाल किए तो एक पुलिसकर्मी घटनास्थल पर देखने के लिए गया। पुलिसवालों ने संतोष देवी को हॉस्पिटल भी नहीं पहुंचाया। लोगों से सूचना मिलने के बाद वह पहुंचे और मां को हॉस्पिटल ले गए। एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने कहा की विजय नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करने में इतनी देरी क्यों की गई? इसकी जांच भी कराई जा रही है। जो भी दोषी मिलेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बदमाशों की तलाश करने के लिए पुलिस टीम जुट गयी है।

Aadhya technology

यह भी पढ़े: हिंदू संगठन से जुड़े डॉक्टर को मिली सिर तन से जुदा करने की धमकी

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button