अपराधदेश

सांसद रवि किशन से 3 करोड़ की ठगी, बिल्डर पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

फिल्म अभिनेता और गोरखपुर से सांसद रवि किशन के साथ ठगी का एक मामला सामने आया है। रवि किशन ने एक बिल्डर पर तीन करोड़ की धोखाधड़ी करने का...

शहर लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और फिल्म अभिनेता रवि किशन शुक्ला के मुंबई के एक व्यापारी ने 3.25 करोड़ रुपये हड़प लिए। आरोप है कि सांसद रवि किशन ने दस साल पहले एक व्यापारी को रुपये उधार दिए थे। लेकिन सांसद ने जब व्यापारी पर रुपये लौटाने का दबाव बनाया तो उसने चेक थमा दिए, जो कि बाउंस हो गए।

सांसद रवि किशन की शिकायत पर कैंट पुलिस ने मुंबई के व्यापारी जैन जितेंद्र रमेश के खिलाफ सांसद के रुपये हड़पने का केस दर्ज कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है। पीड़ित रवि किशन ने पुलिस अधिकारियों को दिए प्रार्थना पत्र में लिखा है कि साल 2012 में ईस्ट मुंबई के कमला पाली बिल्डिंग निवासी व्यापारी जैन जितेंद्र रमेश को 3.25 करोड़ रुपये दिए थे लेकिन जब रुपये वापस मांगे गए तो जैन जितेंद्र आनाकानी करने लगे। जब दबाव बनाया गया तो व्यपारी ने 34-34 लाख रुपये के 12 चेक दे दिए।

यह चेक मुंबई के विले पार्ले, पीएम रोड स्थित एक टीजेएचडी सहकारी बैंक लिमिटेड के थे। सात दिसंबर वर्ष 2021 को 34 लाख रुपये का चेक एसबीआई (SBI) की बैंक रोड स्थित शाखा में जमा कराया गया, लेकिन उसके बाद बैंक खाते में रुपये नहीं आए।

16 फरवरी वर्ष 2022 को बैंक के अधिकारियों ने एक पत्र लिखकर बताया कि जिस बैंक खाते का चेक दिया गया है, उसमें रुपये ही नहीं हैं। इसलिए चेक बाउंस हो गया। इस सिलसिले में पीड़ित द्वारा व्यापारी जैन जितेंद्र रमेश से बात भी की गई, लेकिन कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं मिल सका। चेक बाउंस होने के बाद से ही पीड़ित अपने रुपये वापस मांग रहे हैं

लेकिन व्यापारी रुपये देने को तैयार नहीं है। इससे पीड़ित मानसिक रूप से परेशान हैं और आर्थिक उत्पीड़न का शिकार हैं। पुलिस के आला अधिकारियों के निर्देश देने पर कैंट थाना पुलिस ने मुंबई के आरोपी व्यापारी के खिलाफ रुपये हड़पने का मुकदमा दर्ज किया है। प्रभारी निरीक्षक थाना कैंट शशिभूषण राय का कहना है की तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर जांच की जा रही है। जांच और साक्ष्यों के आधार पर आरोपी के खिलाफ आगे की कार्रवाई भी की जाएगी।

Aadhya technology

यह भी पढ़े: बाथरूम में छिपे कैदी ने महिला डॉक्टर को दबोचा, फिर की रेप की कोशिश

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button