अपराधदिल्लीदेश

सिक्किम पुलिस के तीन जवानों की हत्या में नया खुलासा, पत्नी से जुड़ी वजह आई सामने

दिल्ली के हैदरपुर जल शोधन संयंत्र में सिक्किम पुलिस के तीन जवानों के हत्यारों आरोपी लांस नायक प्रबीण राय की अपनी पत्नी से झगड़ा चल रहा था।

दिल्ली के हैदरपुर जल शोधन संयंत्र में सिक्किम पुलिस के तीन जवानों के हत्यारों आरोपी लांस नायक प्रबीण राय की अपनी पत्नी से झगड़ा चल रहा था। पत्नी को उससे बात करना पसंद नहीं था। उसके बाद भी प्रबीण अपने साथ बैरक में मौजूद बाकि साथियों का फोन लेकर उससे बातचीत करने में लगा रहता था।

आपको बता दें कि, अनजान नंबर से फोन करने पर वह कभी-कभी फोन उठा लेती थी, परन्तु प्रबीण कि आवाज सुनते ही वह फोन काट देती थी। इन बातों को लेकर प्रबीण के साथी उसका मजाक बनाने लगे थे और सोमवार दोपहर में भी साथियों ने उसके साथ बेहद मजाक किया और इसी मजाक के कारण से सभी को अपनी जान गंवानी पड़ी गई. आरोपी ने अपने तीन साथियों की गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और खुद समयपुर बादली थाने में जाकर आत्मसमर्पण कर दिया।

पूछताछ के दौरान आरोपी ने खुलासा किया कि पत्नी के बातचीत नहीं करने से उसका बरताव काफी चिड़चिड़ा हो गया था लेकिन वह सोमवार को अपने गुस्से पर काबू नहीं कर पाया, जिसके कारण उसे यह कदम उठाना पढ़ गया। मंगलवार को पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जहां पर उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इस वारदात में मृत पिंटो नामग्याल भूटिया, धनहांग सुब्बा और इंद्र लाल छेत्री के घर के सदस्य मंगलवार को दिल्ली नहीं आ पाए।

तीनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर उनके रिश्तेदार और सिक्किम पुलिस के अधिकारियों के हवाले कर दिया। वह शव को लेकर सिक्किम रवाना हो गए। सोमवार को हैदरपुर जल शोधन संयंत्र की सुरक्षा में तैनात लांस नायक प्रबीण राय ने अपने कमांडर पिंटो नामग्याल भूटिया, सिपाही धनहांग सुब्बा और इंद्र लाल छेत्री की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसके बाद वह थाने में जाकर खुद को आत्म समर्पण कर दिया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि तीनों उसके साथ काफी मजाक करते थे और ज्यादातर आपत्तिजनक टिप्पणी करते थे। उसका अपनी पत्नी से झगड़ा चल रहा है और उसकी पत्नी उसके फोन से बात भी नहीं करती थी। अपनी पत्नी से बात करने के लिए वह अपने दोस्तों के फोन से बात करने की कोशिश करता था।

लेकिन नंबर अलग होने के कारण से उसकी पत्नी फोन उठा लिया करती थी, लेकिन प्रबीण की आवाज सुनते ही वह फोन काट देती थी। जिसकी वजह से वह काफी परेशान रहता था। सोमवार दोपहर उसने पत्नी को फोन करने कि कोशिश कि और पत्नी के फोन काटने पर उसके एक साथी के साथ आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। इस बात पर दोनों में काफी कहासुनी और हाथापाई हो गई। उसके बाद गुस्से में आकर उसने इस वारदात को अंजाम दिया।

जांच के बाद पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना के वक्त बैरक में कुल मिलकर पांच जवान मौजूद थे। गंगटोक जिले के रुम्तेक साजोंग निवासी प्रबीण राय सिंतबर में ईआरबी में तैनात हुआ था। 9 अप्रैल से गंगटोक जिला के सुमित लिंगजे निवासी पिंटो नामग्याल भूटिया, पिछले वर्ष 21 जनवरी से गेजिंग जिला के बड़ा थिंग निवासी इंद्रलाल छेत्री और 18 जून से पूर्वी सिक्किम के माछोंग लोसिंग निवासी धनहांग सुब्बा मौजूद थे।

इसके अलावा वहाँ से जान बचाकर भागे पूर्व सिक्किम के नर्थ रिगू निवासी नर बहादुर गुरुंग पिछले 24 अप्रैल से यहां तैनात थे। आरोपी प्रबीण राय सितंबर 2021 से नई दिल्ली स्थित ईआरबी में भर्ती हुआ था। मृतक पिंटो नामग्याल भूटिया तीन साल की दिल्ली स्थानांतरण के बाद इस साल नवंबर महीने में सिक्किम से वापीस आ रहे थे।

आरोपी की अपनी पत्नी से विवाद और इस प्रकार के बरताव को लेकर पुलिस उसके घर वालों से पूछताछ करेगी. पुलिस परिवार से जानने की कोशिश में जुटी हुई है कि उसकी अपनी पत्नी से किस बात को लेकर विवाद चल रहा। साथ ही पुलिस परिवार से उसके व्यवहार के बारे में जानने की कोशिश करेगी।

हालांकि पुलिस के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि आरोपी मानसिक रूप से ठीक है। घटना को लेकर पुलिस का मानना है कि गुस्से में आकर उसने घटना को अंजाम दिया है। पुलिस ने आरोपी के मोबाइल फोन को अपने कब्जे में ले लिया है और छानबीन कर रही है। साथ ही पुलिस मौके से भागे सिपाही और वहां कार्यरत कर्मचारियों से पूछताछ कर जांच में जुटी है।

Insta loan services

यह भी पढ़े: पुरानी गाड़ी वालों की बले-बले, दोबारा रजिस्ट्रेशन करा चला सकेंगे पुरानी गाड़ी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button