अपराधट्रेंडिंगदेशशिक्षा

यूनिवर्सिटी MMS कांड में चैट से हुए नए खुलासे, सामनें आया नया किरदार

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी हॉस्टल वीडियो लीक मामले की जांच लगातार जारी है। आपकों बता दे कि पंजाब पुलिस ने एक छात्रा के 12 क्लिप बरामद की हैं।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी हॉस्टल वीडियो लीक मामले की जांच लगातार जारी है। आपकों बता दे कि पंजाब पुलिस ने एक छात्रा के 12 क्लिप बरामद की हैं। साथ ही इस पूरे मामले में एक और आरोपी की पहचान की है।

फिलहाल, वीडियो बनाने वाली लड़की, शिमला के उसके कथित प्रेमी और उसके दोस्त को पुलिस द्वारा हिरासत में लिया जा चुका है। जानकारी के अनुसार, तीनों को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। तो वही अब पुलिस ने एक और व्यक्ति की पहचान की है, जिसका नाम मोहित बताया जा रहा है।

पुलिस के अनुसार, बरामद किए गए सभी 12 वीडियो आरोपी लड़की के हैं, जिसके वकील ने सोमवार को स्वीकार किया था कि आरोपी लड़की ने ही, एक अन्य छात्रा का वीडियो बनाया था। 

बतातें चले कि यह खुलासा विश्वविद्यालय द्वारा एक बयान में दावा किए जाने के एक दिन बाद हुआ कि केवल एक ‘लीक’ क्लिप थी और यह एक निजी वीडियो था जिसे आरोपी ने अपने प्रेमी सनी मेहता को भेजा था।

मंगलवार को, पुलिस ने आरोपी लड़की की व्हाट्सएप चैट को बरामद किया, दरअसल, चैट में छात्रा मोहित से बात कर रही थी, जिसने लड़की को अपने मोबाइल से तस्वीरें और वीडियो हटाने के लिए कहा था।

इस पर आरोपी लड़की ने जवाब दिया कि जब उसे पता चला कि उसपर शक किया जा रहा है, तो उसे नहाते हुए एक छात्र की फोटो हटानी पड़ी।

इस बीच, यह भी पता चला कि आरोपी सनी मेहता और उसके दोस्त रंकज वर्मा ने कथित तौर पर महिला छात्र के निजी वीडियो वायरल करने की धमकी दी थी, जब तक कि उसने कॉमन वॉशरूम में हॉस्टल के छात्रों के वीडियो को शूट और शेयर नहीं किया था।

मेहता और उसके दोस्त के पास से जब्त किए गए कुल तीन मोबाइल फोन फॉरेंसिक जांच के लिए भेजे गए हैं। पुलिस ने छात्रा का लैपटॉप भी जब्त कर लिया है।

इन्ही सब चीज़ो के चलते, शनिवार की आधी रात के बाद चंडीगढ़ विश्वविद्यालय परिसर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए, जब छात्रों ने आरोप लगाया कि कई महिलाओं के छात्रावास के निजी और आपत्तिजनक वीडियो इंटरनेट पर लीक हो गए थे।

छात्रों का आरोप है कि हॉस्टल में करीब 60 लड़कियों के नहाने के वीडियो लीक हो गए। तो वही दूसरी ओर, विश्वविद्यालय ने एक बयान जारी कर कहा कि केवल एक वीडियो लीक किया गया था।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के प्रो-चांसलर ने बयान देते हुए कहा कि, “मीडिया के माध्यम से जो अफवाह फैल रही है कि छात्रों के 60 आपत्तिजनक एमएमएस पाए गए हैं, वह पूरी तरह से गलत और निराधार है।

विश्वविद्यालय द्वारा की गई जांच के दौरान ये सामने आया कि, एक लड़की द्वारा शूट किए गए एक निजी वीडियो, जिसे उसने अपने प्रेमी के साथ शेयर किया था, को छोड़कर और कोई वीडियो लीक नहीं हुआ है।”

बहराल, आरोपी के खिलाफ आईपीसी और आईटी अधिनियम की धारा 354-सी के तहत शिकायत दर्ज की गई है। साथ ही पूरे मामलें की जांच अभी जारी है।

Anupama Musical Events

ये भी पढ़े: CBSE ने किये 10वीं व 12वीं परीक्षा के पैटर्न में बदलाव, रटने का ट्रेंड होगा खत्म

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button