अपराधदिल्ली एनसीआरराजनीति

ओमेक्स सोसायटी मामले में थाना प्रभारी निलंबित, आरोपी की तलाश जारी

नोएडा के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने बताया कि पड़ताल में पाया गया है कि एसएचओ ने इस मामले में लापरवाही बरती। रविवार रात कथित भाजपा नेता...

सेक्टर-93बी स्थित ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। लापरवाही बरतने के आरोप में थाना फेज 2 के प्रभारी सुजीत उपाध्याय को निलंबित कर दिया गया है। नोएडा के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने बताया कि पड़ताल में पाया गया है कि सुजीत उपाध्याय ने इस मामले में लापरवाह बरती।

इससे पहले उन सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है जो ओमेक्स सोसायटी में घुस आए थे। उनसे पूछताछ की जा रही है और मुख्य आरोपी श्रीकांत त्यागी की तलाश जारी है। वहीं, रविवार रात कथित भाजपा नेता श्रीकांत त्यागी के 12 गुंडे सोसायटी में घुस गए और अभद्रता व छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराने वाली महिला के फ्लैट में जाकर धमकी देने लगे। शोर सुनकर सोसाइटी के लोग जुटे तो गुंडों ने उनसे बदसलूकी करते हुए मारपीट कर दी।

घटना की सूचना मिलते ही सोसाइटी के सैकड़ों लोग जमा हो गए। सोसाइटी में करीब एक घंटे तक हंगामा होता रहा। अफरातफरी के बीच छह आरोपी फरार हो गए। इस बीच सांसद डॉ. महेश शर्मा भी मौके पर पहुंचे और पुलिस अधिकारियों पर भड़क गए। सांसद और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में निवासियों ने नोएडा पुलिस हाय-हाय के नारे लगाए।

निवासियों ने आरोप लगाया है कि जब सोसाइटी में पुलिस तैनात थी तो गुंडे सोसाइटी में कैसे दाखिल हो गए। पुलिस ने छह आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। सांसद डॉ. महेश शर्मा ने पुलिस की कार्रवाई पर सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा कि पुलिस की मौजूदगी में आखिरकार सोसाइटी में गुंडे कैसे दाखिल हो गए। मामले में पुलिस ने लचर रवैया अपनाया हुआ है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से की जाएगी।

पीड़िता और सोसाइटी के लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी नोएडा पुलिस पर है। अगर इसमें चूक होती है तो जिम्मेदारी पुलिस की ही होगी। घटना से सोसाइटी के लोगों में भय का माहौल है। लोगों ने बताया कि सोसाइटी के गेट पर निजी सिक्योरिटी गार्ड की तैनाती रहती है, लेकिन पुलिसकर्मी भी मौजूद थे। इसके बाद भी गुंडे सोसाइटी में घुस गए।

सोसाइटी के लोगों ने पुलिस से महिला की सुरक्षा की मांग की थी, लेकिन सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई। इससे गुंडे महिला के फ्लैट तक पहुंच गए। गुंडे गलत फ्लैट नंबर बताकर सोसाइटी में दाखिल हुए थे। सिक्योरिटी गार्ड ने भी फ्लैट में रहने वाले लोगों से इंटरकॉम पर बातचीत नहीं की थी और सीधे प्रवेश दे दिया था। जिस फ्लैट नंबर में जाने की बात कहकर गुंडे दाखिल हुए थे, उनमें दो युवतियां रहती हैं।

हंगामे की सूचना पाकर पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह, संयुक्त पुलिस आयुक्त लव कुमार और जिलाधिकारी सुहास एलवाई सोसाइटी में पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया। कमिश्नर ने कहा कि श्रीकांत के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी और अवैध संपत्तियों को जब्त किया जाएगा। एक-दो दिन में इनाम भी घोषित कर दिया जाएगा।

वहीं, जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति कानून से ऊपर नहीं है। आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जा रही है। महिला से अभद्रता के मामले में पूरी सोसाइटी के लोग एकजुट हो गए हैं। निवासी कपिल नौहवार का कहना है कि हम लोग पीड़िता के साथ हैं और उसके सम्मान को लेकर एकजुट हैं।

पुलिस को जल्द आरोपी को गिरफ्तार करना चाहिए। जब कुछ गुंडे सोसाइटी में दाखिल हो गए थे तो सोसाइटी के लोगों ने ही बदमाशों को पकड़ा था। इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया था। रविवार को श्रीकांत की आखिरी लोकेशन ऋषिकेश में मिली। एक दर्जन से अधिक बार उसका मोबाइल स्विच ऑफ-ऑन हुआ। सूत्रों के अनुसार श्रीकांत हरिद्वार में एक स्थान पर सीसीटीवी में भी कैद हुआ है। नोएडा पुलिस की टीम ऋषिकेश और हरिद्वार के आसपास मौजूद है।

Hair Crown

यह भी पढ़े: बिंदापुर इलाके के कारोबारी को धमकी, खुद को बताया गैंगस्टर, मांगी रंगदारी

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button