अपराधदेश

अमृतसर में शिवसेना नेता की हत्या, गैंगस्टर लांडा हरिके ने ली जिम्मेदारी

पंजाब में सनसनीखेज तरीके से शुक्रवार शाम के समय भीड़ के सामने गोलियां चलाकर शिवसेना नेता का कत्ल कर दिया गया।

पाकिस्तान के इशारे पर कश्मीर में टारगेट किलिंग के मामले अभी शांत भी नहीं हुए हैं कि पंजाब में भी ऐसे मामले होने लगे हैं। पंजाब के अमृतसर में मूर्तियों के साथ हुई बेअदबी के विरोध में एक मंदिर के बाहर धरना दे रहे शिवसेना नेता सुधीर सूरी की हमलावरों ने

शुक्रवार शाम को सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी। सुधीर सूरी के सुरक्षा गार्डों ने भी उस वक्त हवा में गोलियां चलाई लेकिन हमलावर मौके से फरार हो गए। बाद में एक आरोपी को लाइसेंसी हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।

भीड़ के सामने चलाई गई थी गोलियां

पुलिस के अनुसार मूर्तियों के साथ हुई बेअदबी के विरोध में पंजाब शिवसेना नेता सुधीर सूरी पंजाब के अमृतसर में मजीठा रोड स्थित गोपाल मंदिर के पास शुक्रवार शाम के वक्त विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। उसी समय अज्ञात हमलावरों ने उन पर गोलियां चला दी और कुल उन्हें 5 गोली मारी गई, जिसके बाद वे वही पर जमीन पर गिर पड़े।

सुधीर सूरी के सुरक्षा गार्डों ने भी बिच बचाव में हवाई फायर किया। दोनों तरफ से गोली चलते ही उस वक्त भगदड़ मच गई, जिसका फायदा उठाकर हमलावर वहां से फरार हो गए। शिवसेना नेता सुधीर सूरी को गंभीर हालत में फोर्टिस एस्कार्ट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया, जहां उनकी मृत्यु हो गई।

समर्थकों ने कई गाड़ियों में की तोड़फोड़

सुधीर सूरी की मौत की जानकारी मिलते ही उनके समर्थक भड़क गए और उन्होंने मंदिर के आसपास खड़ी कई गाड़ियों में तोड़फोड़ करना शुरू कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे लगाने लगे। सुचना मिलने के तुरंत बाद पुलिस मौके पर पहुंची और फिर वहां मौजूद लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया। पुलिस ने समर्थकों को कार्रवाई करने का आश्वासन देकर

उनसे शांति बनाए रखने के लिए कहा। मामले को गंभीरता से देखते हुए पुलिस ने घटनास्थल के आस-पास के इलाकों में लगे कई सीसीटीवी कैमरों को खंगालना शुरू किया, जिसके बाद उन्हें कुछ क्लू मिल गया।

मामले में एक आरोपी पकड़ा गया, हथियार भी बरामद

पुलिस कमिश्नर अरुण पाल सिंह के अनुसार हमले के एक आरोपी को पकड़ लिया गया है और पकडे गए आरोपी की पहचान संदीप सिंह के रूप में हुई है। उससे इस घटना में इस्तेमाल हुआ लाइसेंसी हथियार भी बरामद कर लिया गया है। इनमे से एक हमलावर अभी फरार है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। उधर इस मामले के बाद जस्टिस लीग इंडिया नामक एक अनजान संगठन ने इस हत्याकांड की जिम्मेदारी ली है। इस अनजान संगठन ने कहा है कि वह पंजाब में RSS व उसके सहयोगियों का खात्मा करता रहेगा।

जानकारी के अनुसार सुधीर सूरी पेशे से एक ट्रांसपोर्टर थे और वे पंजाब में खालिस्तानी आतंक व देश-विरोधी गतिविधियों के खिलाफ मुखर रहते थे। वे काफी लंबे वक्त से पाकिस्तान परस्त खालिस्तानी आतंकियों के निशाने पर थे, जिसके चलते पंजाब सरकार ने पंजाब पुलिस के कुल 8 जवान उनकी सुरक्षा के लिए लगा रखे थे। लेकिन वे जवान भी उनका कत्ल होने से नहीं रोक पाए और आरोपियों को जवाब देने के बजाय हवाई फायरिंग करते रह गए।

शिवसेना नेता के कत्ल से बीजेपी बिफरी

इस मामले पर बीजेपी ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई है और इसके साथ ही बीजेपी की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने यह आरोप लगाया है कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिलकुल बिगड़ गई है। मुख्यमंत्री भगवंत मान पंजाब को संभालने के बजाय अरविन्द केजरीवाल के चुनावी एजेंट के रूप में दूसरे राज्यों के दौरे करने में व्यस्त हैं।

सूत्रों के अनुसार सुधीर सूरी के अलावा बीजेपी-शिवसेना के कई नेता भी आतंकियों के निशाने पर हैं। सुधीर सूरी से पहले गुरुवार को पंजाब के अमृतसर की टिब्बा रोड स्थित ग्रेवाल कॉलोनी में रहने वाले पंजाब के एक शिवसेना नेता अश्विनी चोपड़ा के घर के पास 2 बाइक सवार हमलावरों ने फायरिंग की थी, यह घटना सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई।

Accherishtey

ये भी पढ़े: ब्लू टिक के नाम पर भेजे जा रहे फर्जी ई-मेल, क्लिक करते ही डाटा चोरी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button