अपराधदिल्लीदिल्ली एनसीआर

थार सवार रईसजादे ने कांस्टेबल को मारी टक्कर, वापस लौट कर की अभद्रता

वहां मौजूद लोगों की मदद से कांस्टेबल ने आरोपियों को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन चारों आरोपी अपनी थार में सवार होकर मौके से फरार हो गए।

नॉएडा सेक्टर-126 थाना क्षेत्र के चरखा चौक के पास में एक थार सवार रईसजादे आयुष त्यागी नाम के ट्रैफिक कांस्टेबल को टक्कर मारकर वहां से भाग निकले। लेकिन कुछ देर बाद दोबारा फिर से उसी कार में सवार होकर चार युवक घटनास्थल पर पहुंच गए और फिर घायल ट्रैफिक कांस्टेबल के साथ अभद्रता करने लगे।

वहां मौजूद आसपास के लोगों की मदद से ट्रैफिक कांस्टेबल ने आरोपियों को पकड़ने का काफी प्रयास किया, लेकिन चारों आरोपी अपनी थार में सवार होकर मौके से फरार हो गए। पीड़ित कांस्टेबल की शिकायत पर मामला दर्जकर नॉएडा सेक्टर-126 थाना पुलिस ने इनमे से तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन एक आरोपी अभी फरार है।

फरार आरोपी की तलाश में नोएडा और दिल्ली पुलिस संयुक्त रूप से लगातार दबिश दे रही है। मंगलवार के दिन नोएडा ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल आयुष त्यागी व्यस्त वक्त में चरखा चौक के पास दिल्ली की ओर जाने वाले यातायात को नियंत्रित कर रहे थे।

और इस दौरान वह नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे से कालिंदी कुंज की ओर जाने वाले मार्ग पर वाहनों को रोककर दूसरी तरफ के वाहनों को निकालने लगे। वाहन रोके जाने से नाराज युवक एक्सप्रेसवे की ओर से आ रहे थार सवार कुल चार युवकों ने अपनी कार को पहले तो कांस्टेबल आयुष त्यागी पर चढ़ाने का प्रयास किया लेकिन किसी तरह से वह बच निकले। इस दुर्घटना में ट्रैफिक कांस्टेबल के एक पैर में चोट आई है। एडीसीपी आशुतोष द्विवेदी के अनुसार घटनास्थल के आसपास लगे कई सीसीटीवी कैमरों की मदद से घटना में इस्तेमाल थार के नंबर के आधार पर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पकडे गए आरोपियों की पहचान दिल्ली के मुंडका सैनी चौपला निवासी हर्ष (25), टैगोर गार्डन निवासी 25 वर्ष के कवीश खन्ना और लाल बहादुर शास्त्री हॉस्पिटल निवासी 22 वर्ष के आर्यन नेगी के रूप में हुई है। इनमे से चौथा आरोपी गाजीपुर डेरी फार्म दिल्ली निवासी २४ वर्ष के तरुण सिंह है जो अभी फरार है। इन सभी आरोपियों के खिलाफ हत्या का प्रयास और सरकारी काम में बाधा पहुंचाने आदि धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

इसके साथ ही पुलिस को गुमराह करने का प्रयास और एक ट्रैफिक कांस्टेबल पर थार चढ़ाने का प्रयास करने वाले यह सभी आरोपी शातिर किस्म के हैं। आरोपियों के पकड़े जाने के बाद दिल्ली में तैनात एक एसीपी का रिश्तेदार होने का दावा किया लेकिन नोएडा पुलिस की सख्ती और छानबीन के बाद यह दावा फर्जी निकला। पकडे गए आरोपियों का कोई भी रिश्तेदार पुलिस विभाग में तैनात नहीं है।

Accherishtey

ये भी पढ़े: सुपर बाइक चुराने वाले गिरोह के दो बदमाश गिरफ्तार, 2 आरोपी फरार

Gagandeep Singh

गगनदीप सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। जहां ये दिल्ली से जुड़ी सारी क्राइम की खबरें निडर होकर अपने लेख से लोगों तक पहुंचाते है

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button