अपराधदिल्ली एनसीआरनार्थ वेस्ट दिल्ली

प्लॉट का झांसा देकर 16 करोड़ रुपये की ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार

कंपनी पर आरोप है कि राजस्थान के नीमराणा में परियोजना के नाम पर 400 निवेशकों से रुपये लेने के बाद भी उन्हें प्लॉट नहीं दिए

आर्थिक अपराध शाखा ने आवासीय परियोजना में प्लॉट का झांसा देकर निवेशकों से 16 करोड़ रुपये की ठगी करने वाले रियल एस्टेट कंपनी के एक निदेशक को गिरफ्तार किया है। कंपनी पर आरोप है की राजस्थान के नीमराणा में परियोजना के नाम पर 400 निवेशकों से रुपये वसूलने के बाद भी उन्हें प्लॉट नहीं दिए।

निदेशक प्रेमशंकर गुप्ता गुरुग्राम के सेक्टर-104 स्थित पुरी एमराल्ड सोसाइटी में रहता है। पुलिस उपायुक्त जितेंद्रकुमार मीणा के मुताबिक़ 2018 में फरीदाबाद निवासी सुरेश मनसुखानी ने अपराध शाखा में ओमकृष्णा डेवलपर्स के खिलाफ ठगी की शिकायत दी थी। शिकायत के अनुसार, कंपनी का कार्यालय दिल्ली के नेताजी सुभाष प्लेस में है।

आरोपी प्रेमशंकर, उसकी पत्नी उर्मिला गुप्ता व बेटी दीक्षा ने यह कहा था कि कंपनी नीमराना में काउंटी गार्डन के नाम से आवासीय परियोजना विकसित कर रही है और शिकायतकर्ता से 150 वर्ग मीटर प्लॉट के बदले मे 10.16 लाख रुपये ले लिए, लेकिन इसके बाद भी भूखंड नहीं दिया। जांच करने पर पता चला, कंपनी के पास न तो जमीन है, न ही नगर विकास न्यास, भिवाड़ी से कोई अनुमति है।

इस तरह ठगे गए 400 निवेशकों ने अपराध शाखा में शिकायत करि थी। प्रेमशंकर की पत्नी व उसकी बेटी फरार हैं। दोनों के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किए हैं। आगरा का मूल निवासी प्रेमशंकर गुप्ता 10वीं तक पढ़ा है। आरोपी पहले भी सात आपराधिक मामलों में गिरफ्तार हो चुका है। रेवाड़ी के एक मामले में वह भगोड़ा घोषित है।

Hair Crown

यह भी पढ़े: दिल्ली के रोहिणी इलाके में मां की हत्या कर बेटे ने की खुदकुशी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button