अपराधदिल्ली

कम्पनी ने इंश्योरेंस की रकम देने से किया मना, ग्राहक ने लिया झूठ का सहारा।

इंश्योरेंस कम्पनी ने रकम देने से किया इंकार ग्राहक ने बनाई झूठी कहानी। झूठ से हटा पर्दा कंपनी ने ग्राहक को दबोचा।

द्वारका के गोयला डेयरी के रहने वाला सुमित पाल का ऑटो गाजियाबाद इलाके से चोरी हो गया। उसने वहां के थाने में शिकायत भी दर्ज कराई और इंश्योरेंस कंपनी को क्लेम किया। लेकिन यह कह कर इंश्योरस क्लेम का प्रोसेस कम्पनी ने खारिज कर दिया की क्योंकि ऑटो का परमिट केवल दिल्ली में था। तो पीड़ित ने ऑटो के लूट की झूठी कहानी की सूचना द्वारका सेक्टर 23 थाना इलाके में पीसीआर कॉल करके दे दी।

द्वारका सेक्टर 23 थाने की पुलिस टीम ने मामला दर्ज कर लिया और छानबीन शुरू की। इस मामले में डीसीपी ने आरोपियों को पकड़ने के लिए एएटीएस की टीम को जांच का जिम्मा सौंप दिया। डीसीपी द्वारका संतोष मीणा ने बताया कि एसीपी ऑपरेशन विजय सिंह यादव की देखरेख में सीनियर इंस्पेक्टर राम किशन, इंस्पेक्टर कमलेश, सब इंस्पेक्टर विकास, सहायक सब इंस्पेक्टर करतार सिंह आदि की टीम ने लगातार छानबीन की।

उसके बाद आखिरकार ऑटो लूट की झूठी कहानी से पर्दा उठा कर पीड़ित को ही दबोच लिया। फिर पीड़ित दे आरोपी बनाया सुमित पाल ने सारी कहानी से पर्दा उठा दिया। की चाकू की नोक पर देर रात 3 लोगों द्वारा उसके ऑटो की लूट की झूठी कहानी उसने किस तरह बनाई थी।

Tax Partner

Rahil Sayed

राहिल सय्यद तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने दिल्ली से सम्बंधित बहुत सी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button