अपराधदिल्ली एनसीआर

लोहा गलाने वाली भट्टी में गिरकर मैनेजर की मौत, परिजनों ने मालिक पर लगाया आरोप

औद्योगिक क्षेत्र यूपीएसआईडीसी के फ्री होल्ड एरिया में संचालित लोहा गलाने की फैक्टरी में भट्ठी में जलकर मैनेजर की मौत हो गई।

औद्योगिक क्षेत्र यूपीएसआईडीसी के फ्री होल्ड एरिया में संचालित लोहा गलाने की फैक्टरी में भट्ठी में जलकर मैनेजर की मौत हो गई। मैनेजर के घरवालों ने फैक्टरी मालिक पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए काफी हंगामा किया। जबकि, फैक्टरी मालिक का ये कहना है कि मैनेजर ने भट्ठी में कूदकर आत्महत्या की थी। देर शाम तक घरवालों का हंगामा चलता रहा। पुलिस शव की तलाश करने में लगी हुई है।

औद्योगिक क्षेत्र यूपीएसआईडीसी के फ्री होल्ड एरिया में बागपत के खेकड़ा के रहने वाले आसिफ अली की लोहे को गलाने की फैक्टरी है। उसमें गाजियाबाद के सिहानी के रहने वाले अनुराग त्यागी (40) पुत्र राजेंद्र प्रसाद बतौर मैनेजर के रूप में कार्य करते थे। अनुराग मूल रूप से मेरठ के किला परीक्षितगढ़ के निवासी है। अनुराग त्यागी के भाई अरुण कुमार त्यागी ने बताया कि वह सुबह फैक्टरी आए थे। सभी कर्मचारियों को कार्य पर लगाकर खुद भी काम में जुटे थे। अरुण ने यह आरोप लगाया कि इसी बीच किसी बात को लेकर फैक्टरी के मालिक से अनुराग का झगड़ा हो गया।

इस पर फैक्टरी मालिक ने अनुराग को भट्ठी में फिंकवाकर मौत के घाट पंहुच दिया। हादसे के बाद मृतक के घरवालों ने फैक्टरी में जमकर हंगामा किया। सूचना पर एसडीएम विवेक कुमार यादव, कोतवाली प्रभारी सतेंद्र कुमार सिंह के अलावा कपूरपुर तथा पिलखुवा पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। भट्ठी में काफी देर तक अनुराग त्यागी का शव खोजा गया पर शव नहीं मिला।

सीसीटीवी की हार्ड डिस्क गायब:

अरुण ने बताया कि फैक्टरी में अनुराग त्यागी के साथ-साथ दस मजदूर और भी काम कर रहे थे। हादसे के बाद फैक्टरी के सभी मजदूर वहां से भाग गए। कंपनी में लगे सीसीटीवी कैमरे की हार्ड डिस्क भी नहीं मिल रही है।

Accherishtey

यह भी पढ़ें: भारत में इन 4 धांसू कारों के आने वाले हैं सीएनजी मॉडल, इस साल होंगी लॉन्च

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button