अपराधदिल्लीसेंट्रल दिल्ली

बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के बाद हंगामा, इलाके में भारी पुलिसबल तैनात

प्रदर्शनकारियों की ज्यादा भीड़ को देखते हुए हालात को काबू करने के लिए मौके पर पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स की टीम पहुंच गई।

राजधानी दिल्ली के रंजीत नगर इलाके में बजरंग दल के कार्यकर्ता की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। मृतक की शिनाख्त शादीपुर गांव निवासी 27 वर्ष के नितेश कुमार फोर के रूप में हुई है। नितेश की मौत से नाराज परिजनों और दिल्ली शादीपुर के ग्रामीणों ने रविवार दोपहर के समय पटेल नगर की मुख्य सड़क पर मृतक का शव रखकर प्रदर्शन किया।

प्रदर्शनकारी अन्य समुदाय के लोगों पर हत्या का आरोप लगा रहे थे। लगभग दो घंटे बाद पुलिस ने समझा-बुझाकर प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाया। मामले में पुलिस ने आरोपी अदनान अब्बास, और उजेफा, की पहचान कर वारदात में इस्तेमाल बाइक भी बरामद कर ली है। पुलिस की टीम आरोपियों की तलाश कर रही है। जिला पुलिस उपायुक्त श्वेता चौहान के अनुसार झगड़ा दो समुदायों का नहीं है।

युवकों के दो गुटों में किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था और इसकी शुरुआत नितेश की तरफ से की गई थी। इसकी पूरी वारदात सीसीटीवी फुटेज में कैद है। बजरंग दल का कार्यकर्ता नितेश बुधवार देर रात लगभग 12:30 बजे मोहल्ले में रहने वाले अपने दोस्त आलोक और मोंटी के साथ मंदिर वाली गली में टहल रहा था। इस दौरान दूसरे मोहल्ले के तीन युवक बाइक पर वहां पहुंचे।

तीनों अपनी बाइक से लगातार हॉर्न बजा रहे थे। फिर नितेश ने इसका विरोध किया तो आरोपी नितेश से गाली-गलौज करने लगे। इसी बात को लेकर नितेश का युवकों से झगड़ा हो गया। हाथापाई के कुछ ही देर के बाद दूसरे पक्ष के लगभग 15-20 लोग वहां पहुंचे। आरोपियों ने नितेश, आलोक और मोंटी पर लाठी, डंडे और रॉड से हमला कर दिया। इस हमले में नितेश गंभीर रूप से घायल हो गया।

नितेश और आलोक के खिलाफ थाने में पहले से दर्ज हैं मामले

पुलिस उपायुक्त श्वेता चौहान के अनुसार हत्या का केस दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। वारदात को सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन यह महज संयोग है कि आरोपी अन्य समुदाय के हैं। सीसीटीवी जांच में मंदिर वाली गली में नितेश तीनों युवकों से उलझता दिख रहा है और वहीं दूसरी सीसीटीवी फुटेज में आरोपी नितेश और उसके दोस्तों की पिटाई करते नजर आ रहे हैं। उपायुक्त ने बताया कि नितेश के खिलाफ पहले के पांच केस दर्ज हैं। और इसके साथ ही आलोक का भी आपराधिक रिकॉर्ड मिला है।

डेढ़ किमी लगा था जाम, मौके पर रैपिड एक्शन फोर्स पहुंची

प्रदर्शनकारियों की ज्यादा भीड़ को देखते हुए हालात को काबू करने के लिए मौके पर पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स की टीम पहुंच गई। लगभग दो घंटे तक मुख्य सड़क से गुजरने वाले वाहनों को डायवर्ट किया गया। सैकड़ों वाहन प्रदर्शन की वजह से सड़क पर ही फंसे रहे। मौके पर लगभग डेढ़ किमी लंबा जाम लग गया। एमएस बिट्टा का काफिला भी इस वक्त जाम में फंसा रहा।

प्रदर्शन के दौरान एक बार एंबुलेंस को निकालने के लिए रास्ता दिया गया। लेकिन इसके बाद ग्रामीण फिर से सड़क के दोनों तरफ प्रदर्शन करने लगे। प्रदर्शनकारियों में बजरंग दल कार्यकर्ता की मां, भाई और दोस्तों सहित काफी बड़ी तादाद में ग्रामीण और एक राजनीतिक दल की महिला प्रकोष्ठ व बजरंग दल के कार्यकर्ता भी शामिल रहे।

Hair Crown

यह भी पढ़े: नशे में धुत हमलावरों ने दो भाइयों पर चाकू से किया वार, एक की मौत

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button