दिल्ली एनसीआरदेश

दिल्ली के लोगों के लिए एक और रिंग रोड की सौगात, पेट्रोल की होगी बचत

प्रदूषण को गंभीरता से लेते हुए अब दिल्ली-एनसीआर में एक्सेस-नियंत्रित एक्सप्रेसवे बनने जा रहा है, जिससे यात्रियों का सफर आराम दायक हो

दिल्ली में यात्रियों की सुविधाओं के लिए बहुत सी योजनाए बनाई जा रही है। ऐसी ही एक योजना दिल्ली में जल्द शुरु होने वाली है जहां प्रदूषण को देखते हुए नया एक्सेस-नियंत्रित एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है।

बता दें कि प्रदूषण एक मुख्या कारण है जिससे दिल्ली के लोग बहुत समय से परेशान है। इसी को गंभीरता से लेते हुए अब दिल्ली-एनसीआर में एक्सेस-नियंत्रित एक्सप्रेसवे बनने जा रहा है। यह कार्य राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से दिल्ली-एनसीआर में किया जा रहा है जिससे सड़कों का डेवलपमेंट हो। इसी के चलते एक ऐसा तंत्र डेवलप किया जा रहा है जिससे यात्रियों का सफर आराम दायक हो और साथ ही ट्रैफिक से भी बच कसे।

यह सारी चीज़ो को देखते हुए यह नया प्रोजेक्ट एक्सेस-नियंत्रित एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है जिससे दिल्ली से प्रदूषण खत्म करने में भी मदद मिल सके और लोगों के लिए यात्रा का साधन भी बन सके। इसके निर्माण की बात करे तो इसको 2023 तक पूरा बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

इस प्रोजेक्ट की सूचना केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister Nitin Gadkari) ने ट्वीट कर बताया “यूईआर-द्वितीय परियोजना दिल्ली मास्टर प्लान 2041 में तीसरे रिंग रोड के हिस्से के तौर पर दिल्ली विकास प्राधिकरण की संकल्पना है और दिल्ली में ट्रैफिक कम करने और सुविधाजनक बनाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इस परियोजना पर काम कर रहा है।

साथ ही इसके अलावा पश्चिमी/दक्षिणी दिल्ली, इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और गुरुग्राम के लोग UER-II के जरिए एनएच-44 आसानी से पहुंच सकेंगे। साथ ही इससे चंडीगढ़, पंजाब और जम्मू-कश्मीर जाने वाले लोगों को भी आसानी होगी। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से आसपास के इलाकों में सामाजिक-आर्थिक विकास को भी बढ़ावा मिलेगा।”

Vishalgarh Farms
ये भी पढ़े: अब दिल्ली के बस स्टैंड पर जान पाएंगे बसों के रियल टाइम के साथ बहुत सी जानकारी

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button