दिल्लीदिल्ली एनसीआर

सस्ते फ्लैट लेने है तो पहुंच जाइए दिल्ली एनसीआर, बिक रहे है 1 लाख से ज्यादा फ्लैट

यह सब कोरोना के बाद मेट्रो सिटीज में फिरसे घरो कि मांग बढ़ने कि वजह से हुआ है। 1 लाख से ज्यादा फ्लैटों कि बिक्री होना शुरू हो रही है

कोरोना के चलते बहुत से काम ठप पड़े थे जिसकी वजह से अब बिज़नेस एक्टिविटीज भी चालू होती दिख रही है। इन सब के चलते रियल स्टेट अब अपनी स्पीड तेज़ी से पकड़ रही है। ऐसे में लोगों के लिए घर खरीदने का एकदम सही वक़्त है। जानिए कैसे

बता दें कि प्रॉपर्टी कंसल्टिंग कंपनी प्रॉपटीजऱ का मन्ना है कि दिल्ली एनसीआर के साथ और 8 शहरों में अभी लोगों के लिए बिल्डर द्वारा 7 लाख से अधिक फ्लैट बचे हुए है और अगर सिर्फ दिल्ली एनसीआर कि बात करें तो यहाँ 1 लाख से अधिक फ्लैट शामिल है।

फ्लैट खरीदने का सही समय

दिल्ली एनसीआर में कोरोना के बाद अब फ्लैट खरीदने का सही समय बताया जा रहा है। यह सब कोरोना के बाद मेट्रो सिटीज में फिरसे घरो कि मांग बढ़ने कि वजह से हुआ है। 1 लाख से ज्यादा फ्लैटों कि बिक्री होना शुरू हो रही है जहां नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना एक्सप्रेस-वे, गुरुग्राम, मानेसर, फरीबादाबाद, भिवाड़ी और गाजियाबाद से अधिक फ्लैटों को बिल्डर स्कीम अथवा कम दामों में बेचेंगे।

कुछ टाइम बाद बढ़ेगी कीमत

फ्लैट बिकने को तैयार है लेकिन डिमांड के मुताबिक, इनकी पूर्ति नहीं हो रही है। जिस वजह से शायद आने वाले टाइम में फ्लैट्स के रेट मेहेंगे हो सकते है। साथ ही महंगाई के दौर में कंस्ट्रक्शन का सामान भी मेहेंगा हो जाता है जिस वजह से फ्लैट के दाम 20-30 % का बढ़ना तय है।

फ्लैट कहा है खाली ?

  • नोएडा
  • ग्रेटर नोएडा वेस्ट
  • ग्रेटर नोएडा
  • गुरुग्राम
  • मानेसर
  • फरीदाबाद
  • गाजियाबाद

फ्लैट कि कीमत

नोएडा

  • 30-38 लाख (2 bhk)
  • 40-55 लाख (3 bhk)

ग्रेटर नोएडा

  • 30-35 लाख (2 bhk)
  • 35-45 लाख (2bhk)

गुरुग्राम

  • 40-55 लाख (2bhk)
  • 48-65 लाख (2bhk)

फरीदाबाद

  • 28-38 लाख (2bhk)
  • 35-50 लाख (2bhk)

नोएडा एक्सटेंशन

  • 28- 35 लाख (2bhk)
  • 38-65 लाख (3bhk)

Tez Tarrar App
ये भी पढ़े : पंजाबी बाग के रेस्टोरेंट में लगी भीषण आग, मौके पर दमकल की 12 गाड़ियां मौजूद

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button