दिल्लीदिल्ली एनसीआर

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए कोयला, लकड़ी जलाने पर लगेगा प्रतिबंध

दिल्ली में प्रदूषण का दर बहुत तेज़ी से फैलता है जिससे दूर करने के लिए कोयला और लकड़ी जलाने पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है

दिल्ली में प्रदूषण का दर बहुत तेज़ी से फैलता है जिससे दिल्ली या NCR में रहने वाले लोगों को बहुत परेशानी होती है। इसी को दूर करने के लिए कोयला और लकड़ी जलाने पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है।

बता दें कि दिल्ली और NCR में प्रदूषण रोकने के लिए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) सख्ती करने की तैयारी में है। यह इसलिए किया जा रहा है क्योकि प्रदूषण की वजह से बहुत से लोगों को दिक्कत होती है और इसका सुझाव भी निकलना जरूरी है जिसके लिए सीएक्यूएम ने केंद्र की 2017 में लागू की गई ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) को नया रूप देने का विचार किया है।

दरअसल, यह प्लान अक्टूबर में इस्तेमाल किया जाता है जब प्रदूषण का दर ज्यादा बढ़ जाता है। इसमें दिल्ली NCR में चलने वाले होटल, रेस्तरां और खुले भोजनालय में पकने वाले तंदूर में कोयले के इस्तेमाल और लकड़ी जलाने पर प्रतिबंध की किया जाता है। साथ ही यह भी देखा जाता है की डीजल जनरेटरों, पटाखे फोड़ने से भी बहुत प्रदूषण फैल जाता है जिसके लिए हरियाली व पौधरोपण पर ज्यादा प्रभाव डालने की बात की गई है। इसी के साथ सीएक्यूएम का मानना है कि जैसे प्रदूषण बढ़ता रहेगा वैसे ही कई प्रतिबंध लागू किए जाएंगे।

तीन दिन पहले करनी होगी कार्रवाई

प्रदूषण के चरण 2, 3 और 4 पहुंचने से पहले कारवाई की जाएगी जिसमे प्रस्तावित प्रतिबंधों को निचले चरण से उच्च स्तर तक लागू किया जायेगा। जिसमे ताप बिजली संयंत्रों, स्वच्छ ईंधनों और इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, सार्वजनिक परिवहन, सड़क यातायात प्रबंधन के बारे में विचार रखे जायेंगे।

Tez Tarrar App
यह भी पढ़े: दिल्ली में अब नहीं चलेगी पेट्रोल, डीज़ल और CNG की कैब्स, सरकार ने निकाले आदेश

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button