दिल्ली एनसीआर

अहीर समाज के लोगों ने दिल्ली-जयुपर हाईवे किया जाम, पुलिस पर बरसाए पत्थर

एक खबर गुरुग्राम से सामने आयी है जहां सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर अहीर समाज के लोगों ने दिल्ली-जयुपर हाईवे पर भारी जाम कर दिया था

एक खबर गुरुग्राम से सामने आयी है जहां सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर अहीर समाज के लोगों ने दिल्ली-जयुपर हाईवे पर भारी जाम कर दिया था और जिसके बाद गुरुग्राम पुलिस ने अहीर मोर्चे के पदाधिकारियों को हिरासत में ले लिया है लेकिन जब पुलिसकर्मी पदाधिकारियों को ले जाने लगे थे तो मौजूद प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया। जिसका वीडियो भी सामने आया है।

बता दें कि गुरुग्राम में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की बस पर पथराव शुरू कर दिया और उसके बाद पुलिस ने स्थिति को कण्ट्रोल में करने के लिए दो और बटालियन भी धरनास्थल पर बुलाया है। दरअसल, अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर फरवरी 2022 से प्रदर्शन किए जा रहे हैं जिसके चलते पिछले महिने भी हाईवे जाम करने की कोशिश की थी।

लेकिन इस बार प्रदर्शन को लेकर प्रशासन पहले से ही अलर्ट हो गया था और हाईवे खाली करवाने के लिए पुलिस ने लोगों को गिरफ्तार करने के बाद बसों में बैठाया तो वहां मौजूद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बस पर पथराव शुरू कर दिया। जिसके बाद पुलिस द्वारा बल प्रयोग किया तो प्रदर्शनकारी हाईवे छोड़कर उसी के किनारे बसे गांव की गलियों से पत्थर बरसा रहे हैं।

रिपोर्ट्स अनुसार पुलिसकर्मियों ने अभी 200 लोगों को हिरासत में लिया है। जिसमे से संयुक्त अहीर रेजिमेंट मोर्चा ने प्रदर्शन को बल देने के लिए भारी मात्रा में युवाओं से धरनास्थल पर पहुंचने के लिए अपील की गई। साथ ही उन्होंने प्रदर्शन को सफल बनाने के लिए समाज के कलाकारों से भी समर्थन मांगा था। साथ ही इस मोर्चे का मतलब है कि जब तक सेना में अहीर रेजिमेंट नहीं बन जाता तब तक यह धरना जारी रहेगा। इतना ही नहीं प्रदर्शनकारियों कि आगर मांगे नहीं मानी गईं तो और बढ़े स्तर पर प्रदर्शन करते नज़र आएंगे।

Accherishtey ये भी पढ़े: अब दिल्ली में बड़ा सकेंगे मकान की एक और मंजिल, MCD ने दी मंजूरी

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button