दिल्ली

एयरटेल को देना पड़ेगा पांच लाख का भुगतान, आयोग ने दिया आदेश

ग्राहक को प्रताड़ित करने पर एक प्राइवेट दूरसंचार सेवा प्रदाता पर 5 लाख रुपये का भतन करने के दिल्ली जिला उपभोक्ता अदालत के फैसले को

ग्राहक को प्रताड़ित करने पर एक प्राइवेट दूरसंचार सेवा प्रदाता पर 5 लाख रुपये का भतन करने के दिल्ली जिला उपभोक्ता अदालत के फैसले को दिल्ली राज्य उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग ने बरकरार रखा है।

ग्राहक का आरोप था कि फोन कॉल से परेशान करने और बकाया राशि का भुगतान करने के बाद भी उसकी सेवाएं बंद करने के लिए जिला आयोग ने 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था।

आयोग ने बताया कि सेवा प्रदाता ने ग्राहक की शिकायतों पर न तो कोई सुबूत पेश किया और न ही कोई शिकायत दी है। आयोग ने बताया कि इसके अतिरिक्त ग्राहक से इस बारे में शिकायत मिलने के बाद भी वह उसे कॉल करना बंद करने के लिए कोई ठोस कदम उठाने में विफल रहा।

सेवाएं प्रदान करने में लापरवाह थी कंपनी
राज्य आयोग ने अपने फैसला में कहा कि कंपनी न सिर्फ अपनी सेवाएं प्रदान करने में लापरवाह थी, बल्कि ग्राहक को परेशान करने के लिए अपनी शक्ति का भी प्रयोग कर रही थी। अदालत ने बताया कि साल 2014 में पारित जिला उपभोक्ता अदालत के फैसले में कोई कमजोरी नहीं मिली।

आयोग ने ईमेल के द्वारा से संचार पर ध्यान देते हुए कहा कि कंपनी ने न केवल अपनी सेवाएं प्रदान करने में लापरवाही बरती बल्कि शिकायतकर्ता को परेशान करने के लिए अपने पद का प्रयोग किया।

Related Articles

Back to top button