दिल्लीदिल्ली एनसीआरबिज़नेस

दिल्ली में अब मेट्रो से पहुंच सकेंगे छतरपुर मंदिर, श्रद्धालु उठा सकेंगे इसका लाभ

दिल्ली में लोगों कि सुविधा के लिए नए प्रोजेक्ट को निकाले जा रहा है लेकिन इसी के साथ अब श्रद्धालुओं के लिए भी नया प्रोजेक्ट बनाया गया है

दिल्ली में तकरीबन सभी के द्वारा मेट्रो का सफर किया जाता है जिसके चलते अब DMRC द्वारा लोगों के लिए नए निर्माण ला रही है जिससे लोग दिल्ली के कोने – कोने में मेट्रो से सफर कर सके। इसी के चलते अब DMRC द्वारा मंदिरों का दर्शन भी श्रद्धालुओं के लिए आसान होने वाला है क्योकि एक नया प्रोजेक्ट बनाया गया है जहां वह जल्द ही छतरपुर मंदिर में मेट्रो की मदद से पहुंच सकेंगे। जानिए पूरी खबर 

बता दें कि दिल्ली में लोगों कि सुविधा के लिए नए प्रोजेक्ट को निकाले जा रहा है लेकिन इसी के साथ अब श्रद्धालुओं के लिए भी नया प्रोजेक्ट बनाया गया है जिसके चलते अब वह जल्द ही छतरपुर मंदिर के बेहद नजदीक तक भी मेट्रो की कनेक्टिविटी ला रहे है जिसका दिल्ली मेट्रो फेज-4 के तुगलकाबाद-एयरोसिटी कॉरिडोर पर जमीन से 19 मीटर नीचे अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन का निर्माण किया जाएगा।

इसके पूरे होते ही महज 100-150 मीटर की दूरी पर श्रद्धालुओं को मंदिर के दर्शन का मौका मिल सकेगा। ऐसे ही पहले भी निर्माण किये गए है जहां लोगों को दर्शन के लिए मौका मिला है जो मेट्रो से उतारते ही है जैसे अक्षरधाम, कालकाजी, हनुमान मंदिर, झंडेवाला, गौरीशंकर मंदिर, गुफा मंदिर और दिगंबर जैन मंदिर तक जाने के लिए रोजाना सैकड़ों यात्री मेट्रो में सफर करते हैं।

रिपोर्ट्स द्वारा बताया जा रहा है कि DMRC द्वारा 23.88 किलोमीटर के दायरे में तुगलकाबाद-एयरोसिटी के बीच नए मेट्रो कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है। जिसका अभी तक 20% काम पूरा हो चूका है और दावा किया जा रहा है कि सितंबर, 2025 तक इस लाइन पर मेट्रो दौड़ने लगेगी। इस कॉरिडोर पर 15 में से 11 स्टेशन अंडरग्राउंड जबकि चार एलिवेटेड होंगे साथ ही इस स्टेशन के दोनों तरफ गेट होंगे जो मेट्रो से काफी कम दूरी पर बनाए जा रहे हैं। 

अभी कि बात करे तो दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन स्थित छत्तरपुर से करीब 700 मीटर है। मेट्रो फेज-4 के कॉरिडोर पर प्रस्तावित स्टेशन के तैयार होने से श्रद्धालुओं को भी मंदिर पहुंचने में किसी तरह की दिक्कत का सामना नहीं करना होगा। इस कॉरिडोर पर कुल 15 मेट्रो स्टेशन होंगे। इसी के चलते सेवाएं शुरू होने से महिपालपुर, वसंत कुंज, छतरपुर, इग्नू, मैदानगढ़ी, नेबसराय, साकेत, खानपुर, संगम विहार और तुगलकाबाद की ज्यादा आबादी को सहूलियत होगी।

Tez Tarrar Appयह भी पढ़े: दिल्ली में DTC बस में सफर करना होगा महंगा? प्राइवेट हाथों में देने की योजना

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button