दिल्लीदिल्ली एनसीआर

दिल्ली सरकार ने दी बुजुर्गों और दिव्यांगों को खुशखबरी! अब मिलेगा पेंशन कार्ड

दिल्ली सरकार द्वारा बुजुर्गो और दिव्यांगों के लिए नई योजना निकली जा रही है जहां इनके लिए अब पेंशन कार्ड (Pension Card) जारी किया जायेगा

दिल्ली सरकार द्वारा लोगों के लिए बहुत सी सुविधाएं योजनाए निकाली जा रही है। ऐसे में अब बुजुर्गो और दिव्यांगों के लिए नई योजना निकली जा रही है जहां इनके लिए अब पेंशन कार्ड (Pension Card) जारी किया जायेगा। जानिए पूरी खबर

बता दें कि दिल्ली में बुजुर्गों और दिव्यांगों पर ज्यादा ध्यान दिया जा रहा है जिसके चलते नई योजना लायी गयी है। इस योजना में सरकार पेंशन कार्ड (Pension Card) जारी करेगी और इसके साथ पेंशन आवेदन की प्रक्रिया को भी आसान करेगी। ऐसे में दिल्ली सरकार के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा है कि उन्होंने अधिकारियों को बुजुर्ग और दिव्यांगों को समयबद्ध तरीके से पेंशन जारी करने का निर्देश दिया है।

इसके साथ ही सरकार बुजुर्गों और दिव्यांगों को मिलने वाली पेंशन के लिए जल्द ही पेंशन कार्ड भी जारी करेगी। हालाँकि, दिल्ली सरकार अभी हर महीने 4. 42 लाख बुजुर्गों और 1. 14 लाख दिव्यांगों को ढाई-ढाई हजार रुपये पेंशन देती है। लेकिन इस योजना के चलते अब सरकार बुजुर्गों और दिव्यांगों की पेंशन की राह और आसान करेगी।

इस योजन के लिए मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने मंगलवार को विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और बुजुर्गों और दिव्यांगों को जारी की जाने वाली पेंशन के बारे में पूरी जानकारी ली। इसी के साथ उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लाभार्थियों की सुविधा का विशेष ख्याल रखा जाए और उनको सही समय और तरीके से पेंशन जारी किया जाए।

दरअसल, इस योजना में ज्यादा प्रभाव इसलिए डाला जा रहा है क्योकि बुजुर्ग और दिव्यांग हर महीने बेसब्री से इंतजार करते हैं और ऐसे में अगर उनको समय पर रुपये नहीं मिले तो उनका गुजारा नहीं चल पाता है। इसलिए यह सुनिश्चित करना सरकार का कर्तव्य है कि उन्हें समय पर पेंशन मिले, जिससे वे अपनी जरूरत के सामानों को समय से खरीद सके।

Tax Partner
ये भी पढ़े: CBSE ने किये 10वीं व 12वीं परीक्षा के पैटर्न में बदलाव, रटने का ट्रेंड होगा खत्म

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button