दिल्ली

प्रदूष्ण को लेकर दिल्ली सरकार ने उठाये ये ठोस कदम

इस साल भी पिछले साल की तरह दिल्ली सरकार इच्छुक किसानों के खेत में बायो डि-कंपोजर का नि:शुल्क छिड़काव करने के लिए त्यार हैं।

इस साल भी पिछले साल की तरह दिल्ली सरकार इच्छुक किसानों के खेत में बायो डि-कंपोजर का नि:शुल्क छिड़काव करने के लिए त्यार हैं। प्रणाली से प्रदुषण ना फैले, इसको लेकर दिल्ली सरकार पहले से भी काफी सतर्क हो गयी हैं।

पिछले वर्ष 5 अक्टूबर से ही घोल बनाने की प्रक्रिया चालू हो गयी थी। लेकिन इस साल 5 अक्टूबर तक घोल बनकर त्यार भी हो जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इसी को लेकर 24 सितंबर को बायो डि-कंपोजर का घोल बनाने की प्रक्रिया की शुरूआत करेंगे।

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय का कहना है कि भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, पूसा के सहयोग से खरखरी नहर में यह घोल तैयार किया जाएगा। उन्होंने मीडिया को यह भी बताया कि थर्ड पार्टी ऑडिट की रिपोर्ट से किसान बहुत उत्साहित हैं।

gopal-rai

किसान गैर बासमती धान वाले खेतों में भी छिड़काव की मांग कर रहे है। आपको बता दे कि इस साल 2 हजार एकड़ की जगह 4 हजार एकड़ खेत के लिए घोल तैयार किया जाएगा। सरकार इस काम में 50 लाख रूपए का खरचा कर रही हैं।

दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से भी इस मुद्दे पर कोई कदम उठाने की मांग की। कहा की बाकी राज्यों में जल्द से जल्द छिड़काव की त्यारी की जानी चाइए। ताकि प्रणाली के कारण उतर भारत के सभी राज्यों को मुसीबत ना हो।

गोपाल राय का कहना है कि प्रदुषण बढ़ने में पड़ोसी राज्यों की भी पूरी भूमिका हैं। उनका कहना है कि प्रदुषण को बढ़ावा मिलने में प्रणाली की एक एहम भूमिका होती हैं।

Tez Tarrar App

जब दिल्ली के चारो और मौजूद राज्यों में प्रणाली जलनी शुरू होती हैं तो उसका सबसे ज़्यादा असर दिल्ली पर ही आता हैं। प्रणाली की समस्या का समाधान हो सके, इसको लेकर काफी मुक़दमे चले लेकिन इस समस्या का कोई हल नहीं निकला।

दिल्ली के अंदर प्रदूषण की समस्या के समाधान के लिए सरकार लगातार विभागों के साथ बैठक कर रही है। सभी विभाग अपने विंटर एक्शन प्लान बना रहे हैं, जिसे 30 सितंबर तक तैयार कर लिया जाएगा। विचार विमर्श के बाद इसे मुख्यमंत्री घोषित करेंगे।

ये भी पढ़े: World Peace Day 2021: दुनिया में बढ़ रहा है अशांति का माहौल, ये है वजह

Aanchal Mittal

आँचल तेज़ तर्रार न्यूज़ में रिपोर्टर व कंटेंट राइटर है। इन्होने दिल्ली के सोशल व प्रमुख घटनाओ पर जाकर रिपोर्टिंग की है व अपनी कवरेज में शामिल किया है। आम आदमी की समस्याओ को इन्होने अपने सवालो द्वारा पूछताछ करके चैनल तक पहुँचाया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button