दिल्ली

ITI के छात्रों के लिए खुशखबरी: दिल्ली स्किल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय ने शुरू किए कई नए पाठ्यक्रम

दिल्ली स्किल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय छात्रों के लिए 13 कोर्सेस के विकल्प लेकर आई है। दाखिला लेने वाले छात्रों को एक हफ्ते में केवल 5 दिन ही कैंपस जाना होगा

अगर आप आईटीआई से पढ़े हुए हैं और आप टेलीवीज़न इंडस्ट्री या इंजीनियरिंग में जाना चाहते हैं तो लेटरल एंट्री के माध्यम से आप अपना करियर बना सकते हैं। दिल्ली स्किल एवं उद्यमिता विद्यालय (डीएसईयू) विद्यार्थियों के लिए 13 कोर्सेस में विभिन्न प्रकार के विकल्प लेकर आई है। 13 में से 11 कोर्स को इंजीनियरिंग और 2 कोर्स को कला से जोड़ा गया है।

आइटीआइ छात्रों को विश्वविद्यालय ने ज़्यादा अच्छे विकल्प देने के लिए उनकी ट्रेड से जुड़े कोर्सेस के मुताबिक लांच किया है। इनमें ऑटोमोबाइल से लेकर प्रिंट टेक्नोलॉजी, फैशन डिज़ाइन और इंटीरियर डिज़ाइन को भी शामिल किया गया है। छात्रों को शामिल हुए सभी नए कोर्सेस में सीधा दूसरे वर्ष में एडमिशन दिया जाएगा।

इसकी सहायता से एडमिशन लेने वाले विद्यार्थियों को अन्य विद्यार्थियों के मुकाबले में 1 वर्ष पहले कोर्सेस को पूरा करने का लाभ मिलेगा। इसी के साथ कोर्स को पूरा करने के बाद उनके पास बेहतर संस्थानों में अपने करियर की शुरुआत करने का बेहतर अवसर भी मौजूद होगा। विश्वविद्यालय ने उन छात्रों को भी मौका दिया है जो बारवी पास है, लेकिन आगे की राह को लेकर परेशानी में है। ऐसे विद्यार्थी भी सीधे एडमिशन लेकर अपना करियर इंजीनियरिंग में बना सकते है।

एक हफ्ते में 40 घंटे की होंगी क्लासेस

लेटरल एंट्री के ज़रिये एडमिशन लेने वाले विद्यार्थियों को एक हफ्ते में सिर्फ 5 दिन ही कैंपस जाना होगा। 1 दिन में विद्यार्थियों को करीब 8 घंटे पढ़ाया जाएगा यानि, हफ्ते में विद्यार्थियों को 40 घंटे का अध्ययन कराया जाएगा। इसके साथ इंडस्ट्री से रूबरू  कराने के लिए उन्हें प्रैक्टिकल वर्क भी दिया जाएगा। इससे उनको इंडस्ट्री में संपर्क स्थापित करने में भी सहायता मिलेगी। 

 

लेटरल एंट्री डिप्लोमा कोर्स

डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 12

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं: सेफ्टी इंजीनियर, परफोर्मेंश इंजीनियर, प्रोडक्शन इंजीनियर व ऑटोमोबाइल इंजीनियर आदि।

कैंपस: ओखला और पूसा।

 

डिप्लोमा इन अप्लाइड आर्ट्स

अवधि- दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं:  मैगजीन व अखबार,  एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री, टैक्सटाइल इंडस्ट्री और फिल्म इंडस्ट्री में काम करने का अवसर।

कैंपस: महारानी बाग

 

डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 18 

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई।

संभावनाएं: सिविल इंजीनियर के रूप में कई  बड़ी परियोजनाओं पर काम करने का मौका।

कैंपस: अशोक विहार, ओखला और पूसा।

 

डिप्लोमा इन कैमिकल इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई।

संभावनाएं: प्रोसेस इंजीनियर, केमिकल इंजीनियर और एसोसिएट साइंटिस्ट आदि।

कैंपस: रोहिणी

 

डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 24 

संभावनाएं: इलेक्ट्रिकल इंजीनियर के रूप में काम करने का मौका।

कैंपस: पूसा कैंपस , रोहिणी, ओखला और अशोक विहार ।

 

डिप्लोमा इन कंप्यूटर इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 24 

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई।

संभावनाएं: प्रोग्रामर व सिस्टम एनालिस्ट, क्लाउड आर्किटेक्ट आदि।

कैंपस: शकरपुर, रोहिणी, पीतमपुरा और रजोकरी कैंपस।

 

डिप्लोमा इन फैशन डिजाइन

अवधि: दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं:  गार्मेंट इंडस्ट्री व फुटवीयर  में डिजाइन करने का बेहतर मौका।

कैंपस: पीतमपुरा कैंपस

 

डिप्लोमा इन इलेक्ट्रोनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 18 

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं:  सर्विस इंजीनियर व जूनियर इंजीनियर ,टेक्निकल सपोर्ट इंजीनियर आदि।

कैंपस: रोहिणी, महारानी बाग और पूसा कैंपस।

 

डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: 30 

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं: मैकेनिकल इंजीनियर के रूप में  विभिन्न कंपनियों के लिए काम करने का मौका।

कैंपस: पूसा कैंपस , रोहिणी, ओखला एक और दो कैंपस व अशोक विहार।

 

डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन

अवधि: दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं: टेलिविजन, थियेटर, इवेंट मैननेमैंट और कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में काम करने का अवसर।

कैंपस: महारानी बाग कैंपस

 

डिप्लोमा इन टूल एंड डाइ मेकिंग

अवधि: दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं:  डाई इंडस्ट्री एंव टूल में इंजीनियर के रूप में करियर।

कैंपस: ओखला कैंपस।

 

डिप्लोमा इन प्रिंट टेक्नोलॉजी

अवधि: दो साल

कुल सीटें: छह

योग्यता: 12वीं पास या आईटीआई पास।

संभावनाएं:  पैकेजिंग इंडस्ट्री, मैगजिन, मीडिया, डिजिटल प्रिंटिंग व प्रिंटिंग प्रेस में मौका।

कैंपस: पूसा कैंपस

Insta loan services

ये भी पढ़े:- दिल्ली वासियों को Delhi Metro का तोहफा

Rahil Sayed

राहिल सय्यद तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने दिल्ली से सम्बंधित बहुत सी महत्वपूर्ण घटनाओं और समाचारों को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button