दिल्लीदिल्ली एनसीआरशिक्षा

Delhi University: 13-19 नवंबर तक दिल्ली यूनिवर्सिटी में विंटर ब्रेक घोषित

GRAP-4 को ध्यान में रखकर 13 से 19 नवंबर के बीच DU के सभी क़ॉलेज और इंस्टिट्यूट विंटर ब्रेक के दौरान बंद रहने वाले है

दिल्ली में जैसे प्रदूषण को देखते हुए जैसे सभी चीजो को रोका जा रहा है वैसे कि एक और खबर सामने आयी है जहां दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) में भी वायु प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए समय से पहले विंटर ब्रेक (Winter Break0 की घोषणा कर दी गई है। बता दें कि दिल्ली यूनिवर्सिटी में 13 से 19 नवंबर तक छुट्टी घोषित की गई है और अधिकारियों द्वारा बताया गया कि शुक्रवार को इसको लेकर एक अधिसूचना जारी की गई जिसमे अमूमन कॉलेजों में विंटर ब्रेक दिसंबर में घोषित किया जाता है।

अधिकारियों द्वारा आगे बताया गया कि GRAP-4 को ध्यान में रखकर अब विंटर ब्रेक का फैसला किया गया है जिसमे 13 से 19 नवंबर के बीच DU के सभी क़ॉलेज और इंस्टिट्यूट विंटर ब्रेक के दौरान बंद रहने वाले है और इस नोटिफिकेशन में बताया गया है कि परीक्षा और इंटरव्यू के समय में बदलाव नहीं किया गया है। वह तय समय पर ही होते दिखेंगे।

अब 9 से 18 नवंबर तक स्कूलों में सर्दी की छुट्टी

दिल्ली सरकार द्वारा अब एक और बड़ा फैसला लिया गया है जहां राष्ट्रीय राजधानी में गंभीर वायु प्रदूषण के बीच ही अब दिल्ली सरकार ने 9 से 18 नवंबर तक स्कूलों में शीतकालीन अवकाश (Winter Vacation) की घोषणा की है। इसमें दिल्ली सरकार द्वारा स्कूलों को सर्दी की छुट्टी अभी घोषित करने का निर्देश दिया है और स्कूलों में पूर्व निर्धारित दिसंबर-जनवरी में होने वाले विंटर ब्रेक को अभी घोषित करने का सीधा आदेश दिया है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के साथ अब दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण अपनी चरम सीमा पर है। ऐसे में दिल्ली सरकार ने पहले ही स्कूलों में छुट्टी का एलान किया है। अब गौतमबुद्ध नगर प्रशासन ने भी नोएडा तथा ग्रेटर नोएडा के स्कूलों को बंद किया है। प्रदूषण की वजह से तीन दिन तक स्कूल बंद रहेंगे। 7 से लेकर 10 नवंबर तक जिले में स्कूलों की छुट्टी की गयी है।

Accherishtey

ये भी पढ़े: मेट्रो यात्रियों के लिए खुशखबरी! अब लाइन चेंज करने के लिए नहीं चलना पड़ेगा अधिक

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Back to top button