दिल्लीदेश

Delhi Water Crisis: दिल्ली में गहरा सकता है जल संकट, कोर्ट ने भेजा हरियाणा सरकार को नोटिस

देश की राजधनी दिल्ली में जलापूर्ति के लिए मानी जाने वाली मुनक नहर के सोनीपत में करियर लिंक चैनल नहर के टूटने की जानकारी ने दिल्ली के

देश की राजधनी दिल्ली में जलापूर्ति के लिए मानी जाने वाली मुनक नहर के सोनीपत में करियर लिंक चैनल नहर के टूटने की जानकारी ने दिल्ली के लोगों को काफी चिंता में डाल दिया। सीएलसी के टूट जाने का सबसे प्रतिकूल प्रभाव हैदरपुर जल शोधन संयंत्र की क्षमता पर पड़ा है। ऐसे में दिल्ली के काफी हिस्सों में जलापूर्ति प्रभावित होने की उम्मीद जताई जा रही है।

मध्य, दक्षिण, नई दिल्ली, राष्ट्रपति भवन, सुप्रीम कोर्ट, दिल्ली हाई कोर्ट, बाकि देशों के दूतावास के साथ-साथ उत्तरी और पश्चिमी दिल्ली के हिस्सों में जलापूर्ति हो सकती है। बता दें, इससे 15 से 20 फीसदी जलापूर्ति पर असर प्रभाव पड़ सकते है। फिलहाल 40 एमजीडी (मिलियन गैलन डेली) पानी की आपूर्ति प्रभावित हुई है।

उधर, सीएलसी के क्षतिग्रस्त होने से जानकारी प्राप्त कर दिल्ली जल बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों की टीम मौके पर भेजी गई। टीम विभाग के सभी अधिकारियों के साथ मिलकर युद्धस्तर पर सीएलसी को ठीक करने का कार्य शुरू कर दिया है। अंदाज़ा है कि 48 घंटे में ठीक करने का कार्य पूरा हो जाएगा। जल बोर्ड के अनुसार, सीएलसी के टूटने पर राजधानी को हरियाणा से कच्चे पानी से मिलने की आपूर्ति प्रभावित हुई ।

सीएलसी से दिल्ली को 750 क्यूसेक कच्चे पानी की आपूर्ति होती है, पर सीएलसी के क्षत्रिग्रस्त से यह आपूर्ति 670 क्यूसेक रह गई है। जल बोर्ड के उपाध्यक्ष सोमनाथ भारती ने कहा कि 48 घंटे में मरम्मत का कार्य पूरा होने का अनुमान है और जल्द ही सामान्य जलापूर्ति बहाल हो जाएगी। अधिकारियों से बात कर स्थिति का जायजा लिया है और जल बोर्ड के अधिकारियों को 24 घंटे निगरानी करने के आदेश दिए गए हैं.Accherishtey
यह भी पढ़ें: दिल्ली के इंद्रप्रस्थ मेट्रो स्टेशन के पास दो गाड़ियों में टक्कर, 2 की मौत, 2 घायल

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button