दिल्लीहेल्थ

दिल्ली के AIIMS अस्पताल में अब रहेगी 24 घंटे नजर, नहीं करना होगा मरीजों को इंतजार

सुविधाओं को और बेहतर बनाने के लिए एम्स निदेशक ने 24 घंटे निगरानी के लिए सीनियर डॉक्टर को नियुक्त करने का फैसला लिया है

देश की राजधानी दिल्ली के AIIMS में दिल्ली के आपातकालीन विभाग व आईसीयू पर 24 घंटे अब नजर रखी जाएगी। ऐसे में सुविधाओं को और बेहतर बनाने के लिए एम्स निदेशक ने 24 घंटे निगरानी के लिए सीनियर डॉक्टर को नियुक्त करने का फैसला लिया है। जानिए पूरी खबर

बता दें कि AIIMS द्वारा निदेशक ने आदेश जारी किया जहां एम्स इमरजेंसी में रोगी देखभाल डिवाइस जिसमें मॉनिटर, वेंटिलेटर, इन्फ्यूजन पंप और कुछ ICU केंद्रीय चार्टिंग से जुड़े हुए नहीं हैं और इनके रियल टाइम निगरानी के लिए व्यवस्था की जा रही है।

हालाँकि, इस आदेश के अंदर एक दिसंबर से सभी आईसीयू व इमरजेंसी सेवाओं पर शारीरिक रूप से एक फेकल्टी 24 घंटे नजर रखेगा और एक जनवरी से सभी आईसीयूएस में सिंगल प्रवेश और निकास होगा जो कि चेहरे की पहचान-आधारित सिस्टम द्वारा नियंत्रित किया जाएगा।

इतना ही नहीं अप्रैल 2023 महीने से ई-कैजुअल्टी और ईएलसीयू चार्टिंग सुविधा एम्स के आपातकालीन विभाग के सभी रेड और येलो एरिया बेड व आईसीयू पर लागू किया जायेगा और साथ ही तकनीक से मरीजों को दी जाने वाली सेवाओं में सुधार किया जाएगा। बता दें कि इंजीनियरिंग सेवा विभाग द्वारा 31 दिसंबर 2022 तक एक टेली-कॉल सेंटर सुविधा शुरू की जाएगी जिससे सभी ICU रोगी परिचारकों के बारे में अच्छे से पूछताछ कर सकें।

बदल सकते हैं सुरक्षा अधिकारी

ऐसे में और भी व्यवस्था जैसे एम्स के सभी संपत्तियों की जियो टैगिंग और ट्रैकिंग की जाएगी। साथ ही एम्स में वर्किंग सुरक्षा गार्ड को बदला जा सकता है और बेहतर सुरक्षा सेवाओं में सुधार करने लिए व्यवस्था करने का फैसला लिया है।

वही AIIMS निदेशक ने कर्मचारियों के स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार करने का फैसला लिया है जो एक जनवरी से इस दिशा में काफी बदलाव होगा जिसे 31 दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा और ऑनलाइन सुविधा सेवाओं को भी बेहतर बनाया जायेगा।

Accherishtey ये भी पढ़े: मारुती ने निकाली अपनी सबसे सस्ती 7 सीटर कार, 5 लाख से भी कम कीमत में उपलब्ध  

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button