दिल्ली

पैगंबर मोहम्मद पर Nupur Sharma के बयान के खिलाफ मुस्लिम समुदाय का प्रदर्शन

Prophet Muhammad के खिलाफ Nupur Sharma और Naveen Jindal की टिप्पणियों के खिलाफ दिल्ली की जामा मस्जिद के बाहर मुस्लिम समुदाय का प्रदर्शन

Prophet Muhammad (पैगंबर मोहम्मद) पर Nupur Sharma (नूपुर शर्मा) और Naveen Jindal (नवीन जिंदल) के कथित विवादित टिप्पणियों के खिलाफ मुस्लिम समुदाय प्रदर्शन कर रहे हैं। हाथों में पोस्टर और बैनर लिए हुए लोग भाजपा नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं।

मुस्लिम समुदाय प्रदर्शन को लेकर जामा मस्जिद के शाही इमाम ने कहा कि मस्जिद कमेटी की ओर से प्रदर्शन का कोई आह्वान नहीं किया गया था। कल जब लोगो द्वारा विरोध करने की योजना बनायीं जा रही थी तो हमने उनसे स्पष्ट रूप से कह दिया था कि जामा मस्जिद की समिति से विरोध का कोई आह्वान नहीं है। हम नहीं जानते कि प्रदर्शन करने वाले कौन हैं। मुझे ऐसा लगता है कि ये ओवैसी के लोग हैं। हमने स्पष्ट कर दिया कि अगर वे विरोध करना चाहते हैं, तो वे कर सकते हैं, लेकिन हम उनका इस प्रदर्शन में समर्थन नहीं करेंगे।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि निलंबित भाजपा नेता नूपुर शर्मा और भाजपा से निष्कासित नेता नवीन जिंदल के विवादित बयानों के खिलाफ लोगों ने जामा मस्जिद पर विरोध प्रदर्शन किया। हमने वहां से लोगों को हटा दिया है और स्थिति अब नियंत्रण में है।

डीसीपी सेंट्रल श्वेता चौहान ने बताया की जुमे की नमाज के लिए आज करीब 1500 लोग मस्जिद पहुंचे थे। करीब 300 लोग नमाज के बाद बाहर आकर नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। 10-15 मिनट के अंदर ही हमने परिस्थिति को नियंत्रित में कर लिया। यह पूरा विरोध प्रदर्शन बिना अनुमति के सड़क पर किया गया इसलिए प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर नूपुर शर्मा पर आरोप है। इसी के चलते भाजपा ने उन पर कार्यवाही की थी , लेकिन मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी भी होनी चाहिए। दिल्ली में नूपुर शर्मा के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई है।

नूपुर शर्मा के बयान से पहले व बाद में जो ट्वीट हुए हैं और सोशल मीडिया पर विवादित बयान आए हैं, उनकी जांच पड़ताल करने के बाद पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। नफरत भरे संदेश फैलाने के मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद गृह मंत्रालय को दिल्ली पुलिस ने आईएफएसओ यूनिट की रिपोर्ट सौंपी है। पुलिस ने लोगों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। पुलिस जल्द ही पूछताछ के लिए आरोपियों को नोटिस देकर बुलाएगी।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि सभी आरोपी नफरत के संदेश को फैला रहे थे और विभिन्न समूहों को उकसा रहे थे। आपको बता दे कि बीते दिनों पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी करने पर उठे बवाल के बाद भाजपा ने पार्टी प्रवक्ता नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया था और इसके साथ ही दिल्ली मीडिया सेल के प्रमुख नवीन जिंदल को निष्कासित कर दिया था।

Tez Tarrar App
ये भी पढ़े: Delhi metro के यात्रियों को मिलेगी ये सुविधा, बचेगा समय और सफर होगा आसान

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button