दिल्लीहेल्थ

पांच डॉक्टरों को ड्यूटी से हटाया, दिल्ली महिला आयोग ने भेजा नोटिस

देश की राजधानी दिल्ली से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. सफदरजंग अस्पताल में एक महिला के लेबर रूम से प्रसव के मामले में पांच डॉक्टरों

देश की राजधानी दिल्ली से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. सफदरजंग अस्पताल में एक महिला के लेबर रूम से प्रसव के मामले में पांच डॉक्टरों को ड्यूटी से निकाल दिया गया है। खबर के मुताबिक मामलेकी वजह पता लगने के बाद बैकफुट पर आए अस्पताल प्रशासन ने यह बड़ा कदम उठाया है। उधर, दिल्ली महिला आयोग ने इस मामले का हस्तक्षेप लेते हुए अस्पताल में नेटिस भेजा है। इस मामले में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी अस्पताल से रिपोर्ट जमा की है।

आपको बता दें की, दिल्ली महिला आयोग ने सफदरजंग अस्पताल के बाहर एक महिला के डिलीवरी के वीडियो पर संज्ञान लिया है। महिला आयोग ने इस पुरे मामले में अस्पताल के लिए नोटिस जारी किया है और कथित तौर पर महिला को भर्ती न करने पर सबसे जवाब मांगा है। अस्पताल को 25 जुलाई को रिपोर्ट देने का निर्देश सौंपा गया है।

आयोग ने सफदरजंग अस्पताल से इस घटना से जुड़े एक विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने अस्पताल से महिला की हालत गंभीर होने के बाद भी उसे भर्ती ना करने की वजह भी पूछी है। आयोग ने इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है. साथ ही आयोग ने यह भी पूछा है कि अस्पताल के किसी कर्मचारी या डाक्टर ने महिला की प्रसव में मदद की या नहीं। साथ ही आयोग ने आपातकालीन मामलों में अस्पताल की ओर से अपनाए जाने वाले प्रोटोकॉल के जुडी जानकारी मांगी है।

आयोग ने कहा कि सफदरजंग अस्पताल के परिसर में महिला की पीड़ा को दिखाता हुआ एक वीडियो मिला है। इस वीडियो में गर्भवती महिला को महिलाओं से घिरा हुआ है और जो प्रसव में उसकी मदद कर रही हैं। साथ ही वीडियो में एक महिला को सुना जा सकता है जो अस्पताल पर भर्ती न करने का आरोप लगा रही है। उसके मुताबिक गर्भवती महिला पूरी रात अस्पताल के बाहर बैठी रही, लेकिन अस्पताल ने न ही दाखिला दिया और न डाक्टरों ने कोई सहायता की। Insta loan services

यह भी पढ़े: पुरानी गाड़ी वालों की बले-बले, दोबारा रजिस्ट्रेशन करा चला सकेंगे पुरानी गाड़ी

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button