दिल्लीदिल्ली एनसीआर

शुरू हुई टूरिस्ट लोगों के लिए Guided Heritage टूर सेवा, इतना है समय और टिकट

दिल्ली में बहुत सी नई योजनाए लायी जा रही है, ऐसे में अब विदेश की तर्ज पर दिल्ली में पर्यटकों के लिए गाइडेड हेरिटेज टूर सेवा शुरू की गई है

दिल्ली में बहुत सी नई योजनाए लायी जा रही है जिससे लोग और भी ज्यादा अपनी ऐतिहासिक चीज़ो को जान सके। ऐसे में अब विदेश की तर्ज पर दिल्ली में पर्यटकों के लिए गाइडेड हेरिटेज टूर सेवा शुरू की गई है। ऐसे मे भ्रमण के दौरान पर्यटक दिल्ली-6 के मशहूर व्यंजनों का स्वाद भी ले सकेंगे और इतना ही नहीं दिल्ली नगर निगम ने युलु बाइक्स कंपनी के साथ गाइडेड हेरिटेज टूर की शुरुआत भी की है।

बता दें कि पहले चरण में इसे शाहजहानाबाद के ऐतिहासिक धरोहर स्थलों का भ्रमण करवाया जाने वाला है और MCD ने दिल्ली भर में ऐसे करीब छह और गाइडेड हेरिटेज टूर कराने की योजना को बनाया है जिसमे दक्षिणी दिल्ली में स्थित ऐतिहासिक धरोहर स्थलों का भ्रमण कराया जाने वाला है।

साथ ही निगम ने पब्लिक साइकिल शेयरिंग और शेयर्ड माइक्रो मोबिलिटी सिस्टम नीति के चलते युलु बाइक्स के सार्वजनिक बाइक स्टैंड पर गाइडेड टूर कराने की अनुमति भी दी है जहां रविवार को शाहजहांनाबाद के ऐतिहासिक गेट की यात्रा का शुभारंभ भी हो चूका है। ऐसे मे निगम के अतिरिक्त आयुक्त AA ताजीर ने विरासत यात्रा को झंडी दिखाकर रवाना किया और साथ ही इस अवसर पर युलु ई-बाइक के संस्थापक आरके मिश्रा, केशव पुरम जोन के उपायुक्त नवीन अग्रवाल और आरपी सेल के अतिरिक्त उपायुक्त अमित भारद्वाज इसमें मौजूद नज़र आये थे।

G-20 शिखर सम्मेलन सेे पहले नई पहल

हालाँकि, अतिरिक्त आयुक्त अमित भारद्वाज ने इस बारे में बताया कि G-20 शिखर सम्मेलन को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में गाइडेड हेरिटेज टूर की शुरुआत अब हो चुकी है। जहां विदेश में इस तरह की सेवा बहुत पहले से चलती आ रही है। साथ ही इस योजना के लिए 700 रुपये की फीस तय की गई है जिसमे टूर शुरू होने से पहले पर्यटकों को नाश्ता भी उपलब्ध होगा। वही यह हेरिटेज टूर कश्मीरी गेट से शुरू होकर शाहजहानाबाद के सभी 7 गेटों से होते हुए करीब तीन घंटे में दिल्ली गेट पर समाप्त हो जायेगा।

Accherishtey

ये भी पढ़े: गाड़ियों के लिए फिर से बदला गया है नंबर प्लेट सिस्टम, लगाई जाएगी Toll Plate

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button