दिल्ली

Ganesh Chaturthi 2022: यमुना में मूर्ति विसर्जन किया तो लगेगा 50 हजार का जुर्माना

हर साल गणेश चतुर्थी का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन कोरोना के चलते पिछले 2 साल से नहीं मनाया जा रहा था

हर साल गणेश चतुर्थी का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन कोरोना के चलते पिछले 2 साल से नहीं मनाया जा रहा था। इस साल गणेश चतुर्थी का त्यौहार फिर से धूमधाम से मनाया जा रहा है लेकिन इस साल गणेश जी की मूर्ति का विसर्जन करना लोगों की जेब पर काफी भारी पड़ सकता है।

आपको बता दें कि दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (DPCC) ने जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि इस साल गणेशोत्सव और दुर्गा पूजा के दौरान यमुना में मूर्तियों का विसर्जन न किया जाये। डीपीसीसी ने जारी किये गए आदेश में यह भी कहा है कि अगर किसी ने नियम का उलंघन किया तो उसे 50,000 का जुर्माना और 6 साल की सजा हो सकती है।

बता दें कि DPCC ने शहरी स्थानीय लोगों को मूर्ति विसर्जन करने के लिए अपने क्षेत्रों के निकट में तालाब बनाए के लिए कहा है और बोर्ड ने दिल्ली पुलिस को शहर मे प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) की मुर्तिया ले जाने वाले वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने के लिए भी कहा है। डीपीसीसी ने यह भी बताया कि मूर्ति विसर्जन गंभीर समस्या पैदा करता है क्योकि उन्हें बनाए में यूज़ होने वाले जेहरीले रसायन पानी में मिल जाते है।

Anupama Musical Events

ये भी पढ़े: अगर ट्रैन से करने जा रहे है वैष्णो धाम यात्रा तो पढ़ लें ये जरूरी खबर

Jagjeet Singh

जगजीत सिंह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे हैं। इन्होंने टेक्निकल, विश्व और एजुकेशन से सम्बंधित लेखो को अपने लेखन में प्रकाशित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button