दिल्लीराजनीति

शराब नीति केस: मनीष सिसोदिया की ज्यूडिशियल कस्टडी 30 मई तक बढ़ाई गई

दिल्ली के पूर्व डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के शराब नीति केस में महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिला जारी है। इस केस में उनकी ज्यूडिशियल कस्टडी की अवधि को 30 मई तक बढ़ा दिया गया है। राउज एवेन्यू कोर्ट में बुधवार की सुनवाई के दौरान स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने इस निर्णय की घोषणा की।

दिल्ली के पूर्व डिप्टी CM मनीष सिसोदिया के शराब नीति केस में महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिला जारी है। इस केस में उनकी ज्यूडिशियल कस्टडी की अवधि को 30 मई तक बढ़ा दिया गया है। राउज एवेन्यू कोर्ट में बुधवार की सुनवाई के दौरान स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने इस निर्णय की घोषणा की।

सिसोदिया ने अपनी बराबरी करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। इस पर 24 मई को सुनवाई का आयोजन होगा। इसके अलावा, 14 मई को भी उनकी तरफ से दाखिल जमानत याचिकाओं पर सुनवाई हुई, जिसमें जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा ने फैसला सुरक्षित रखा है।

सिसोदिया की पक्ष से सीनियर एडवोकेट दयन कृष्णन और मोहित माथुर ने दायर की दलीलें, जबकि ED की तरफ से जोहेब हुसैन और CBI की तरफ से एसपीपी रिपुदमन भारद्वाज ने पक्ष रखा।

ED की अगली चार्जशीट में आम आदमी पार्टी को बनाएगी आरोपी। इस बात की घोषणा की गई है।

इसी केस में दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और BRS नेता के. कविता भी हिरासत में हैं। AAP नेता संजय सिंह भी इसी मामले में जेल में थे, लेकिन अब उन्हें जमानत पर बाहर किया गया है।

इस घटना से साफ है कि शराब नीति केस में सिसोदिया की स्थिति कमजोर हो रही है। वे तिहाड़ जेल में हैं और उनकी जमानत याचिकाओं को बारंबार खारिज किया जा रहा है। आगे की सुनवाईयों में देखा जाएगा कि केस की दिशा किस ओर मुड़ती है।

Related Articles

Back to top button