दिल्लीदिल्ली एनसीआर

1 अक्टूबर से पहले बना लें ये सर्टिफिकेट वरना देने होगा 10 हजार का चालान

दिल्ली में अब प्रदूषण को देखते हुए सर्दी के मौसम में वाहनों से फेल रहे प्रदूषण को कम करने के लिए GRAP लागू होने वाला है

दिल्ली में अक्सर देखा जाता है की सर्दियों के मौसम में प्रदुषण का दर बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जिसके लिए सरकार द्वारा बहुत से प्लान बनाये जातें है। ऐसे में अब इसे रकने के लिए जल्द ही GRAP लागू होने वाला है जिसमे की ख़ास ध्यान वाहनों से निकलने वाले धुएं पर होगा और उसे रोका जायेगा। जानिए पूरी खबर

बता दें की दिल्ली में अब प्रदूषण को देखते हुए सर्दी के मौसम में वाहनों से फेल रहे प्रदूषण को कम करने के लिए ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान यानी GRAP लागू होने वाला है। जिसमे अगर आपने अपनी गाड़ी का प्रदूषण जांच नहीं कराया है या आपके पास वैलिड PUC नहीं है तो इसे हफ्ते भर में बनवा लें अन्यथा 1 अक्तूबर से आपको बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

ये इसलिए बताया जा रहा है क्योकि ट्रांसपोर्ट विभाग के ज्वाइंट कमिश्नर नवलेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि वेलिड पीयूसी ना हो पर 10 हजार के चालान काटे जाएंगे और साथ ही जिसने भी काफी लंबे समय से गाड़ी का पॉल्यूशन जांच नहीं करवाया है ऐसे 15 हजार लोगों को ट्रांसपोर्ट विभाग की ओर से नोटिस भेजा गया है।

साथ ही इन लोगों को चेतावनी दी गई है कि अगर 15 दिनों के अंदर ये अपनी गाड़ी की पॉल्यूशन जांच नहीं करवाते हैं तो उनके 10 हजार रूपये के चालान काटे जाएंगे जिसके लिए टीमें रोजाना सड़कों पर प्रदूषण फैलाने वाली गाड़ियों की जांच कर रही है।

अभी तक कितने कटे चालान?

रिपोर्ट्स की माने तो इस साल 1 जनवरी से 20 सितंबर तक एनफोर्समेंट की टीमों ने 15,523 वाहनों का चालान काटा है और इसी दौरान 5,596 पुरानी गाड़ियों को जब्त करके स्क्रैप के लिए भेज दिया गया है। ऐसे में आपको मालूम हो कि मॉनसून की वापसी के बाद दिल्ली की हवा में प्रदूषण बढ़ने लगा है। हालांकि बारिश के बाद भी एयर क्वालिटी इंडेक्स 100 के पर बना हुआ है।

Tax Partner
ये भी पढ़े: CBSE ने किये 10वीं व 12वीं परीक्षा के पैटर्न में बदलाव, रटने का ट्रेंड होगा खत्म

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button