दिल्लीदिल्ली एनसीआर

अब सरकार दें रही है छत पर Solar Panel लगवाने के लिए पैसे, ऐसे करे अप्लाई

अगर आपको बिजली बिल से छुटकारा पाना है तो आप सिर्फ एक काम करके महंगी बिजली से लेकर लोड शेडिंग तक से छुटकारा पा सकते हैं

जैसे की आप सबको पता है कि सर्दियों का मौसम अब खत्म होने वाला है और गर्मिया दस्तक भी दें चुकी है। ऐसे में आमतौर पर बिजली बिल (Electricity Bill) अधिक आने लगते हैं क्योंकि गर्मी से निजात पाने के लिए AC और पंखे का इस्तेमाल शुरू हो जाता है। इतना ही नहीं गर्मियों में अक्सर लोड शेडिंग भी बढ़ जाती है जिसकी वजह लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

लेकिन अगर आपको इससे छुटकारा पाना है तो आप सिर्फ एक काम करके महंगी बिजली से लेकर लोड शेडिंग तक से छुटकारा पा सकते हैं जहां आपको अपने घर की छत पर सोलर पैनल (Solar Panel) लगवाना होगा जिसके पैसे भी सरकार द्वारा दिए जायेंगे और अगर आप सोलर पैनल लगवा लेते हैं, तो आपको महंगी बिजली से छुटकारा भी मिल जाएगा।

बता दें कि देश की सरकार ग्रीन एनर्जी (Green Energy) को बढ़ावा देना शुरू क्र रही है और इसके तहत सोलर पैनल लगवाने के लिए सब्सिडी (Solar Subsidy) भी दे रही है। ऐसे में अगर आप सोलर पैनल लगवाने का प्लान कर रहे हैं, तो सबसे पहले आपको अपनी बिजली की जरूरतों का अनुमान लगाना होगा क्योकि हर रोज आपके घर में बिजली की खपत कितनी यूनिट है. उसके अनुसार, ही आपको सोलर पैनल लगवाना का अनुमान लग जायेगा।

हालाँकि, ऐसे में अगर आप दो किलोवाट का सोलर पैनल अपने घर की छत पर लगवा रहे हैं तो इसके लिए खर्च करीब 1.20 लाख रुपये तक आपका आएगा। लेकिन आपको इसपर सरकार की तरफ से 40 फीसदी तक की सब्सिडी पूरी तौर पर मिल जाएगी। वही आपको सिर्फ 72 हजार रुपये खर्च करने होंगे जहां सरकार की ओर से आपको 48,000 रुपये की सब्सिडी मिल जाएगी। ऐसे देखा जाये तो सोलर पैनल की लाइफ 25 साल की होती है और आप एक बार पैसे खर्च कर लंबे समय के लिए बिजली बिल से निजात पा सकते हैं।

Accherishtey

ये भी पढ़े: दिल्ली में MCD द्वारा शुरू हुई इन 12 जोन की सफाई, 15 दिनों तक चलेगा ये अतिक्रमण

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button