दिल्लीदिल्ली एनसीआर

अब पुलिस को दिला सकेगी जनता लापरवाही करने पर सजा, होगी सख्त कार्रवाई

देखा जाता है की पुलिस बेरिकेड बहुत गलत तरीके से लगे होते है जिसके चलते दिल्ली की जनता अब लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को सजा दिला सकेगी

अक्सर देखा जाता है की पुलिस बेरिकेड बहुत गलत तरीके से लगे होते है जिसके चलते राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की जनता अब लापरवाही बरतने वाले दिल्ली पुलिसकर्मियों को सजा दिला सकेगी। अगर आपको गलत तरीके से बैरिकेड लगे हुए दीखते हैं तो उसकी आप शिकायत तुरंत दिल्ली पुलिस को कर सकते हैं क्योकि इसी को लेकर दिल्ली पुलिस ने दिल्ली की जनता से सहायता मांगी कि वह मानव रहित बैरिकेड के बारे में दिल्ली पुलिस को सूचना दे। इन सब के चलते फि लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने मानव रहित (गलत तरीके से) बैरिकेड को लेकर दिल्ली पुलिस को सख्त आदेश दिया था। जिसमे हाईकोर्ट ने कहा था कि सड़कें परिवहन के लिए होती हैं और इसी के साथ हाईकोर्ट ने प्रधानमंत्री को लिखे एक पत्र पर स्वत: संज्ञान लेते हुए आदेश दिया था। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में दाखिल स्टेट्स रिपोर्ट में कहा था कि पुलिस से ये गलती दोबारा नहीं होगी।

ऐसे में दिल्ली पुलिस ने सभी जगहों से मानव रहित बैरिकेड हटा लिए थे। लेकिन अभी भी बहुत सी जगह है जहां दिल्ली पुलिसकर्मियों की लापरवाही जारी है और मानव रहित बैरिकेड सड़कों पर पड़े रहते हैं। इन सभी को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कहा था कि ‘राजधानी की सड़कों पर लगे बैरिकेड्स पर हमेशा पुलिसकर्मी रहते हैं। यदि सड़क पर कहीं भी कोई मानवरहित बैरिकेड दिखता है लोग तो तुरंत 112 पर कॉल कर दिल्ली पुलिस को सूचना दे सकते हैं।’

हालाँकि, इसी को देखते हुए दिल्ली पुलिस की प्रवक्ता सुमन नलवा का कहना है कि हमने मानव रहित बैरिकेड को हटाने के लिए जनता से अपील की है। जिसमे कि अगर कहीं भी मानव रहित बैरिकेड पाए गए तो दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और इसी को लेकर बीच-बीच में अभियान चलाया जाता है।

Accherishtey ये भी पढ़े: मारुती ने निकाली अपनी सबसे सस्ती 7 सीटर कार, 5 लाख से भी कम कीमत में उपलब्ध    

Abhishikt Masih

अभिषिक्त मसीह तेज़ तर्रार न्यूज़ चैनल में बतौर कंटेंट राइटर कार्य कर रहे है। इन्होने अपने लेख से सच्ची घटनाओं को लिखकर लोगों को जागरूक किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button